हाल ही में वायरल हुई कुछ फर्ज़ी तस्वीरें जिन पर आपने भी कर लिया होगा भरोसा

हाल ही में वायरल हुई कुछ फर्ज़ी तस्वीरें जिन पर आपने भी कर लिया होगा भरोसाक्या झूठी हैं ये तस्वीरें

सोशल मीडिया में अक्सर ऐसी ख़बरें और फोटो शेयर होते रहते हैं जिनका वास्तविकता से कोई लेना देना नहीं होता लेकिन किसी मुद्दे से जोड़कर या फोटोशॉप करके अफवाह फैलाने के लिए इनका खूब इस्तेमाल किया जाता है। हाल ही में सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे मुद्दे छाए रहे जिनपर आपने लगभग भरोसा कर लिया होगा।

ओखी तूफान के वीडियो

साइक्लोन ओखी का प्रभाव अब लगभग खत्म हो चुका है लेकिन इससे जुड़ी कई झूठी ख़बरें सोशल मीडिया पर छाई रहीं। कई पुराने वीडियो को उस समय ओखी तूफान वीडियो बताकर सोशल मीडिया पर शेयर किया गया जब ये तूफान महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ रहा था। चौंकने वाली बात ये है कि सिर्फ सोशल मीडिया ही नहीं कुछ समाचार चैनलों ने भी इस तरह के वीडियो को ओखी तूफान का वीडियो बताकर अपनी चैनल पर चलाया।

यह भी पढ़ें : ‘लोग क्या कहेंगे’ पर कमाल का तंज़ कर रहा है ये पाकिस्तानी वीडियो, आपको भी आएगा पसंद

वायर्स एजेंसी एएनआई और दो अन्य प्रमुख हिंदी न्यूज़ चैनलों ने इस्तांबुल में गर्मी के मौसम में ओलावृष्टि का एक वीडियो चलाया जिसके बारे में कहा कि ये वीडियो पनवेल, मुंबई का है। बूमलाइव के मुताबिक, उन्होंने एबीपी न्यूज़ चैनल से इस वीडियो को लेकर एक ट्वीट के ज़रिए सवाल भी किया, जिसमें एबीपी ने जवाब दिया कि उन्हें ये वीडियो न्यूज़ एजेंसी एएनआई से मिला था, और अब उन्होंने इसे हटा लिया है।

इसके अलावा सोशल मीडिया पर ओखी तूफान से जुड़ा एक और वीडियो वायरल हुआ जिसके बारे में कहा गया कि ये बांद्रा वर्ली सीलिंक का वीडियो है लेकिन ये वीडियो लक्षद्वीप का था जिसे अगस्त में बनाया गया था।

ये है असली वीडियो


राहुल गांधी के नामाकंन के दौरान कार्यलय में मुगल बादशाह की तस्वीर

4 दिसंबर को राहुल गांधी ने कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए नामाकंन भरा था। राहुल गांधी की कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करते हुए एक तस्वीर सोशल मीडियो पर वायरल हुई। इस तस्वीर में राहुल गांधी के पास ज्योतिरादित्य सिंधिया खड़े हैं और दूसरी तरफ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह बैठे हैं। कांग्रेस पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी तस्वीर में हैं जो सामान्य बात है। लेकिन इस तस्वीर में राहुल गांधी के पीछे एक फोटोफ्रेम रखा नज़र आ रहा है जिसमें मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब की तस्वीर लगी है।

सोशल मीडिया पर यह यह कहकर इस फोटो को वायरल किया गया कि कांग्रेस के मुख्यालय 24, अकबर रोड, दिल्ली में औरंगज़ेब की तस्वीर लगी है। इसके बाद कांग्रेस को इस मामले में सफाई देनी पड़ी। उनके पास नामांकन करते हुए राहुल गांधी की तस्वीरें थीं जिन्हें सोशल मीडिया पर शेयर किया गया। इंडियन यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा ने राहुल गांधी की तस्वीर के साथ ट्वीट करते हुए लिखा - ये मेरा सौभाग्य है कि मैं राहुल गांधी के नामांकन के ऐतिहासिक पल का भागीदार बना। इस तस्वीर में साफ नज़र आ रहा है कि राहुल गांधी के पीछे महात्मा गांधी की तस्वीर रखी हुई है।

तस्लीमा नसरीन का ट्वीट

1994 से भारत में रह रहीं, बांग्लादेशी लेखक तस्लीमा नसरीन ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर शेयर की जिसमें एक भगवा कपड़े पहने एक हिंदू बाबा के गिलास में एक टोपी लगाए एक मुस्लिम व्यक्ति शराब डाल रहा है। इस फोटो को शेयर करते वक्त तस्लीमा ने कोई टेक्स्ट नहीं लिखा लेकिन जिसने इस तस्वीर को फोटोशॉप किया था उसने बोतल को तो बदल दिया लेकिन गिलास में जो पानी था उसका रंग बदलना भूल गया। असली फोटो में शराब की बोतल की जगह पानी की बोतल है। हालांकि तस्लीमा ने बाद में इस तस्वीर को ट्विटर से डिलीट कर दिया।

Share it
Top