SLvIND: पुजारा और रहाणे के शतकों की बदौलत भारत विशाल स्कोर की ओर

SLvIND: पुजारा और रहाणे के शतकों की बदौलत भारत विशाल स्कोर की ओरपुजारा के शानदार शतक से भारत मजबूत।

कोलंबो। श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में खेले जा रहे अपने करियर के 50वें टेस्‍ट को टीम इंडिया के भरोसेमंद बल्‍लेबाज चेतेश्‍वर पुजारा ने अपने लिए यादगार बनाया। इस मैच में पुजारा ने न केवल शतकीय पारी खेली बल्कि इस दौरान वे टेस्‍ट क्रिकेट में 4 हजार रन के आंकड़े को छूने में भी कामयाब रहे।

पुजारा जब बल्लेबाजी पर आए, तो उनके टेस्‍ट करियर में रनों की संख्‍या 3966 रन थे। पुजारा ने टेस्‍ट की 84 पारियों में चार हजार रन तक पहुंचने की उपलब्धि दर्ज की। मजे की बात यह है कि टीम इंडिया की वॉल कहे राहुल द्रविड़ ने भी 84 पारियों में ही चार हजार रन के आंकड़े को छुआ था।

पहला सत्र

कोलम्बो के सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका और भारत के बीच शुरू हुए दूसरे टेस्ट के पहले दिन लंच तक भारत ने 1 विकेट पर 101 रन का स्कोर बना लिया। केएल राहुल 52 और चेतेश्वर पुजारा 14 रन बनाकर क्रीज पर हैं। श्रीलंका की तरफ से दिलरुवान परेरा ने 1 विकेट चटकाया है। शिखर धवन आउट होने वाले बल्लेबाज रहे, उन्होंने 35 रन बनाए।

ये भी पढ़ें- पढ़िए खेल की दुनिया में कैसे चमका 500 रुपए महीने कमाने वाले गरीब की बेटी का किस्मत का सितारा

इससे पहले टॉस जीतकर भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन और केएल राहुल ने शुरूआती 45 मिनट में तेज शुरुआत करते हुए मेजबान गेंदबाजों की जमकर खैर खबर ली। दोनों ने पहले विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी निभाई। धवन काफी अच्छी लय में नजर आ रहे थे लेकिन दिलरुवान परेरा की गेंद पैड पर टकराने के बाद रिव्यू में आउट करार दिए गए। उन्होंने 37 गेंदों का सामना किया और 35 रन बनाए।

धवन के आउट होने के बाद अपना 50वां टेस्ट खेल रहे चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर आए। उन्होंने पिच की गति और उछाल को ध्यान में रखते हुए धीरे-धीरे पारी को आगे बढ़ाया। अच्छी गेंदों को रक्षात्मक और खराब गेंदों को सीमा रेखा के पार पहुंचाने की रणनीति के साथ पुजारा ने केएल राहुल के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए लंच तक अविजित 45 रनों की साझेदारी निभाई। राहुल ने लंच से पहले हेरात की गेंद पर चौके से अपने 50 रन भी पूरे किये। यह उनका लगातार सातवां टेस्ट अर्धशतक है।

दूसरा सत्र

चायकाल के समय तक भारत ने 3 विकेट के नुकसान पर 238 रन बनाए। अजिंक्य रहाणे 41 और चेतेश्वर पुजारा 89 रन बनाकर खेल रहे हैं। आउट होने वाले बल्लेबाज केएल राहुल और कप्तान विराट कोहली रहे। श्रीलंका की तरफ से रंगना हेरात ने कोहली का विकेट चटकाया, जबकि राहुल का विकेट रनआउट के रूप में गिरा। सत्र में 30 ओवर का खेल हुआ जिसमें 137 रन बने और 2 विकेट गिरे।

ये भी पढ़ें- प्रिय कोहली, आप कभी कुंबले जैसा ‘विराट’ नहीं हो सकते

लंच के बाद आते ही टीम इंडिया का स्कोर अधिक आगे नहीं बढ़ पाया। केएल राहुल 57 रन बनाकर रनआउट हो गए। इसके बाद आए कप्तान विराट कोहली (13) ने टिकने की कोशिश जरुर की लेकिन हेरात की गेंद को कट करने के प्रयास में स्लिप में मैथ्यूज को कैच थमाकर चले गए। इस समय कुल स्कोर 133 रन था। अजिंक्य रहाणे ने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया और आकर्षक शॉट खेले। पुजारा और रहाणे चौथे विकेट की साझेदारी में चाय तक अविजित 105 रन जोड़ चुके थे।

तीसरा सत्र

तीसरे सत्र में पुजारा और रहाणे ने श्रीलंका के गेंदबाजों को कोई मौका नहीं देते हुए पूरे दो घंटे क्रीज पर टिककर खेलते हुए बल्लेबाजी के लिए अनुकूल नजर आ रही पिच का भरपूर फायदा उठाया। इस दौरान पुजारा ने इस सीरीज का लगातार दूसरा शतक जड़ा, वहीँ रहाणे ने भी अपना शतक पूरा कर लिया। दोनों मिलकर अब तक चौथे विकेट के लिए अविजित 211 रनों की साझेदारी कर चुके हैं। भारतीय टीम की कोशिश दूसरे दिन बड़ा स्कोर खड़ा करने की होगी ताकि मेजबान टीक को दबाव में लाया जा सके।

ये भी पढ़ें- क्रिकेट का दूसरा पक्ष : प्रदर्शन सचिन, कोहली से बेहतर, लेकिन सुविधाएं तीसरे दर्जे की भी नहीं

रहाणे और पुजारा ने कमजोर गेंदों का इन्तजार करते हुए क्रीज पर टिके रहे। श्रीलंका के नए कप्तान दिनेश चांडीमल ने अपने सभी गेंदबाजों को बदल-बदलकर इस्तेमाल किया लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने उन्हें कोई मौका नहीं दिया। पुजारा ने अपना फॉर्म बरकरार रखते हुए शानदार पारी खेली, वहीँ रहाणे ने काफी समय बाद एक शतकीय पारी खेली और टीम को मजबूती की तरफ अग्रसर कर दिया।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top