छह महीने के अंदर पंचायत में बने 350 शौचालय

छह महीने के अंदर पंचायत में बने 350 शौचालयगाँव में आधे से ज्यादा घरों में बन चुके हैं शौचालय।

कम्यूनिटी जर्नलिस्ट: संदीप गौतम

रायबरेली। जिले में डीएम की मुहिम के तहत पंचायतों को खुले में शौचमुक्त बनाने की पहल ने रफ्तार पकड़ ली है। इसका जीता जागता उदाहरण जिले के दीनशाह गौरा ब्लॉक की धीरमपुर ग्रामसभा में देखने को मिलता है, जहां पर तीन महीने के अंदर 350 शौचालयों का निर्माण करवाया गया है।

स्वच्छता दूत ने भी बढ़ाई जागरूकता

अपने घर पर बने नए शौचालय को दिखाते हुए पंचायत के निवासी रामऔतार (43 वर्ष) बताते हैं, ''ग्रामसभा में जून से शुरू हुए स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत लगभग 350 शौचालय बनवाए गए हैं। गाँव में सुबह से स्वच्छता दूत टहलने लगते हैं औऱ लोटा लेकर दिखने वाले लोगों को रोककर खुले में शौच जाने से मना करते हैं। इससे काफी लोगों ने शौच के लिए बाहर जाना बंद कर दिया है।''

470 घरों में से 350 घरों शौचालयों का निर्माण पूरा

पंचायत के स्वच्छता दूत पवन शर्मा के अनुसार, धीरमपुर ग्रामसभा में कुल 470 घर बने हैं, जिनमें से कुल 350 लोगों के घर पर शौचालयों का निर्माण करवाया जा चुका है। पंचायत में हर हफ्ते पंचायतीराज विभाग के अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह लोगों को घर में शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित भी करते हैं।

क्या कहते हैँ जिलाधिकारी

रायबरेली जिले को नए साल से पहले पूरी तरह से खुले में शौच मुक्त बनाने की पहल में लगे जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के निर्देश के अनुसार पंचायतों में शौचालय निर्माण का काम तेज़ी से शुरू है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top