बच्चों ने जाना स्वच्छ भारत अभियान का लक्ष्य

बच्चों ने जाना स्वच्छ भारत अभियान का लक्ष्यप्रखर प्रतिभा इंटर कॉलेज ने अपने स्कूल के बाहर की साफ-सफाई।

कम्यूनिटी जर्नलिस्ट: उमा शर्मा (17 वर्ष)

प्रखर प्रतिभा इंटर कालेज, बैरी असई, कानपुर देहात

बैरी दरियाव (कानपुर देहात)। अब स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने में केवल ग्रामीण ही नहीं, छात्र-छात्राएं भी बढ़ चढ़कर अपनी सहभागिता निभा रहे हैं। गाँव में शिक्षक जहां बच्चों को आस-पास सफाई रखने के लिए प्रेरित कर रहे हैं, वहीं सफाई अभियान के जरिये स्वच्छता के प्रति बच्चों में रुचि उत्पन्न कर रहे हैं।

सफाई रखेंगे तो नहीं पड़ेंगे बीमार

कानपुर देहात जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर मैथा ब्लॉक के बैरी असई में स्थित प्रखर प्रतिभा इंटर कॉलेज के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने स्कूल के आस-पास दो घंटे सफाई की। विद्यालय की प्रधानाचार्या उपमा द्विवेदी ने बच्चों को जानकारी दी कि जब हम अपने आस-पास साफ सफाई रखते हैं तो हम बीमार कम पड़ते हैं। अपने आसपास सफाई रखना हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी है।

बच्चों को बताया स्वच्छ भारत अभियान का लक्ष्य

उन्होंने विद्यालय के सभी बच्चों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 महात्मा गांधी की जयंती पर ड्रीम प्रोजेक्ट ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की शुरुआत की थी। स्वच्छ भारत अभियान देश का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान है। प्रधानमंत्री ने हर भारतीय से इस मिशन में शामिल होकर इसे सफल बनाने की अपील की है। वर्ष 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर इस अभियान को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया हैl

जब बोले बच्चे

कक्षा 11 में पढ़ने वाले ऋषभ, रागिनी, शिवानी का कहना है कि सभी ने मिलकर स्कूल के चारों तरफ सफाई की। हमारी मैम ने ये भी कहा कि सब बच्चे मिलकर अपने-अपने गाँव की गलियों को साफ करें। अपने आसपास साफ-सफाई रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। वहीं, स्कूल के बच्चे इस गतिविधि में बहुत खुश दिखे। इस अभियान में बच्चों ने ही नहीं, बल्कि स्कूल के शिक्षकों ने भी अपनी सहभागिता दिखाई।

कक्षाओं में बताएं शिक्षक और बच्चों को करें जागरूक

विद्यालय की प्रबंधक प्रतिभा शुक्ला ने बच्चों को स्वच्छ भारत विद्यालय अभियान के दौरान की जाने वाली गतिविधियों के बारे में बताया। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि स्कूल कक्षाओं के दौरान प्रतिदिन बच्चों के साथ सफाई और स्वच्छता के विभिन्न पहलुओं पर विशेष रूप से महात्मा गांधी की स्वच्छता और अच्छे स्वास्थ्य से जुड़ी शिक्षाओं के संबंध में बात करें। बच्चों के साथ समय-समय निबंध प्रतियोगिता, वृक्षारोपण, गंदगी से फैलने वाली बीमारियों पर भी चर्चा की जाये। बच्चों को नुक्कड़ नाटक, फ़िल्म शो जैसी तमाम नियमित तौर पर गतिविधियाँ करायी जाएं जिससे बच्चे इस अभियान के मिशन को पूरा कर सकें। स्वच्छ भारत मिशन एक बड़े पैमाने पर जन आंदोलन है। जिसका प्रयास 2019 तक भारत को भारत को स्वच्छ बनाना है। इस मिशन में सभी ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों को शामिल किया गया है और सभी की सहभागिता से ही ये अभियान सफल होगा ।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top