स्वयं प्रोजेक्ट

जर्जर सरकारी भवन में डर के मारे नहीं बैठते सिंचाई कर्मचारी

श्वेतांक गौरव, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। राजधानी के काकोरी ब्लाक अंतर्गत बना सिंचाई विभाग, शारदा नहर खण्ड दो का कार्यालय खंडहर में तब्दील होता जा रहा है। शिकायत के बाद भी विभाग के आला अफसर इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। वहीं यहां तैनात कर्मचारी और अधिकारी इस जर्जर भवन में बैठने से भी डर रहे हैं।

सिंचाई विभाग के अंतर्गत शारदा नहर खण्ड दो के कार्य सम्पादित करने के लिए काकोरी ब्लाक अंतर्गत दुर्गागंज में तीन कमरों का एक कार्यालय बना हुआ है। यहां पर 40 कर्मचारियों की तैनाती है। यह कार्यालय शारदा नहर परियोजना के खण्ड दो के कार्यालय के नाम से जाना जाता है। इस कार्यालय पर प्रत्येक माह की 10 व 25 तारीख को सभी 40 कर्मचारियों के साथ विभाग के अधिकारी यहां पर आकर मीटिंग भी करते हैं।

ये भी पढ़ें- विराट का गाँव कनेक्शन: एक छोटे से गाँव में कोहली ने की थी शुरुआती पढ़ाई

कार्यालय में बने कमरों का प्लास्टर टूट कर गिर रहा है । छत में पड़ी सरिया बाहर निकल आयी है। छत हल्की बारिश में ही टपकने लगती है। यह कार्यालय इतना जर्जर है कि कभी भी गिर सकता है। साफ सफाई के अभाव में कार्यालय के अन्दर झाडियां उग आई हैं।

यहां तैनात कर्मचारियों ने कई बार कार्यालय मरम्मत के लिए विभाग के उच्चाधिकारियों को लिखित रूप से अवगत कराया, लेकिन किसी अधिकारी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। यहां तैनात कर्मचारी भी अब इस कार्यालय में न बैठकर कार्यालय के प्रांगण में बैठ कर सरकारी काम काज निपटाते हैं।

अधिशाषी अभियंता आरके जैन ने बताया, कार्यालय के मरम्मत के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। प्रयास है कि जल्द ही इस समस्या का निराकरण हो सके।

, ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।