#स्वयंफेस्टिवल: ग्रामीण महिलाएं बोलीं, हम करेंगे 100 और 1090 डायल

#स्वयंफेस्टिवल: ग्रामीण महिलाएं बोलीं, हम करेंगे 100 और 1090 डायलग्रामीण महिलाओं को कार्यक्रम में मिली यूपी पुलिस की नयी छवि की जानकारी।

सिद्धार्थनगर। जिले मुख्यालय से लगभग 15 किमी दूर आज बसावनपुर गाँव का नजारा थोड़ा बदला हुआ था। गाँव की महिलाएं एकत्र होकर गाँव कनेक्शन के स्वयं फेस्टिवल के एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची थीं। उन्हें नहीं पता था कि इस कार्यक्रम में जाने के बाद अभी तक पुलिस के बारे में लोगों से सुनती और देखती आ रही उनकी धारणा बदल जाएगी। आइये आपको इस कार्यक्रम में लेकर चलते हैं और बताते हैं आखिर क्यों महिलाओं ने कहा, हम करेंगे 100 और 1090 डायल। बता दें कि गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर स्वयं फेस्टिवल 25 जिलों में 2 से 8 दिसंबर तक मनाया जा रहा है। इसी कड़ी में बसावनपुर गाँव में यूपी पुलिस का एक विशेष सत्र का आयोजन किया गया।

ग्रामीण महिलाओं ने जाना, यूपी पुलिस की नई सेवाओं के बारे में

बसावनपुर गाँव में यूपी पुलिस के इस विशेष सत्र में महिलाओं को यूपी पुलिस की नई सेवाएं जैसे आपातकाल पुलिस हेल्पलाइन यूपी 100, महिला हेल्पलाइन 1090, ई-एफआईआर, पुलिस की टिवटर सेवा, साइबर क्राइम समेत पुलिस महिला सम्मान प्रकोष्ठ जैसी कई सेवाओं के बारे में विस्तार से बताया गया। कार्यक्रम में उन्हें बताया गया कि यूपी पुलिस गाँव कनेक्शन के साथ मिलकर गाँव-गाँव तक अपनी नयी तस्वीर बनाना चाहती है और लोगों को यह भरोसा दिलाना चाहती है कि पुलिस जनता की सेवा और मदद के लिए है। ऐसे में लोगों को पुलिस से डरने की जरूरत नहीं, बल्कि पुलिस पर भरोसा रखें।

शुभवती ने पूछा सवाल, इतनी जल्दी कैसे पहुंचेगी पुलिस?

इस बीच एक महिला ग्रामीण शुभवती ने पूछा कि काई घटना होने पर हमेशा पुलिस बहुत देर करती है। मगर पुलिस की ऐसी सेवा से पुलिस जल्दी कैसे पहुंचेगी? इस सवाल पर शुभवती को कार्यक्रम में बताया गया कि यूपी पुलिस की 1090 और यूपी 100 जैसी सेवाओं में पुलिस जल्द से जल्द पीड़ित के पास पहुंचेगी क्योंकि आपके द्वारा की गई एक फोन काल राजधानी में बनाए गए सेंट्रल रूम में कंप्यूटर में दर्ज हो जाएगी। ऐसे में संबंधित पुलिस थाने को सूचित किया जाएगा और उन्हें 10 से 15 मिनट में न सिर्फ पहुंचने के लिए कहा जाएगा, बल्कि उनकी समस्या पर पुलिस को रिपोर्ट भी देनी होगी। इसके अलावा बिनकी देवी और चंद्रादेवी ने 1090 के बारे में कई सवाल पूछे और उन्हें उनका जवाब भी मिला। पुलिस की नयी छवि को जानकर तब इन ग्रामीण महिलाओं ने कहा, “आपात स्थिति में मदद के लिए हम करेंगे 100 और 1090 डायल।“

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top