Top

भाजपा जनता से पूछेगी-किसे बनाएं सीएम

भाजपा जनता से पूछेगी-किसे बनाएं सीएमUP Election 2017 में कौन होगा पार्टी के मुख्यमंत्री पद का चेहरा, जल्द ही लगेगी इस पर मोहर।

लखनऊ। यूपी में भाजपा का सीएम पद का प्रत्याशी कौन होगा, इस पर से पर्दा प्रस्तावित चार 'परिवर्तन यात्राओं' के बाद उठेगा। पार्टी रणनीतिकारों का मानना है कि सीएम पद का प्रत्याशी तय करने में ये परिवर्तन यात्राएं काफी सहायक होंगी। इस दौरान जनता का मूड भांपने की कोशिश होगी कि पार्टी में किसे मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया जाए।

सूत्रों ने बताया कि हालांकि सीएम पद के प्रत्याशी पर फैसला भाजपा के संसदीय बोर्ड में ही तय होगा। परिवर्तन यात्रा से हमें मुख्यमंत्री पद की दौड‍़ में शामिल प्रत्याशियों में से जनता की पसंद के प्रत्याशी को चुनने में मदद मिलेगी। चुनाव में कांग्रेस और बसपा अपना प्रत्याशी घोषित कर चुके हैं। सपा में पारिवारिक विवाद के कारण सीएम पद का प्रत्याशी अभी तय नहीं है।

भाजपा की परिवर्तन यात्रा नवंबर में शुरू होकर 25 दिसंबर को लखनऊ में खत्म होगी। यात्रा करीब 50 दिन चलेगी। सूत्रों ने बताया कि उस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लखनऊ में एक बड़ी रैली करने का कार्यक्रम भी है।

यूपी के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों का करेंगे दौरा

परिवर्तन यात्रा नवंबर महीने के शुरुआती दिनों में राज्य के चार अलग-अलग कोनों से शुरू होगी, और इसके तहत देश के सबसे बड़े राज्य के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया जाएगा।

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि नियंत्रण रेखा के पार जाकर भारतीय सेना द्वारा पाक अधिकृत कश्मीर में किया गया सर्जिकल स्ट्राइक भी उन मुद्दों में शामिल होगा, जो इस यात्रा के दौरान उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा, "कैसे संभव है कि बीजेपी सेना की बहादुरी की चर्चा न करे, जबकि यह फैसला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार ने ही लिया था"।

केंद्र की योजनाओं का करेंगे प्रचार

इसके अलावा इस परिवर्तन यात्रा के दौरान जनधन योजना, कृषि बीमा, सबको बिजली तथा गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों को एलपीजी जैसी उन योजनाओं पर जनता की राय भी ली जाएगी, जो केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने शुरू की हैं।

इन यात्राओं को सहारनपुर, ललितपुर, बलिया तथा सोनभद्र से 5, 6, 8 और 9 नवंबर को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, पार्टी के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र व पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख केशव प्रसाद मौर्य हरी झंडी दिखाएंगे।

ये यात्राएं पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता तथा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को लखनऊ में समाप्त होंगी, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक जनसभा को संबोधित करने की संभावना है।

युवाओं को जोड़ना भी होगा इस यात्रा का अहम मकसद

जनता से जुड़ने के लिए आयोजित की जा रही इस कवायद में युवा, आदिवासी तथा महिला कॉन्फ्रेंस भी आयोजित की जाएंगी - गृहमंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह युवाओं को इससे जोड़ने की ज़िम्मेदारी संभालेंगे।

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने राज्य में शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल 80 में से 71 सीटों पर जीत हासिल की थी। हालांकि इसके बाद हुए उपचुनाव में उन्हें झटका लगा था, लेकिन अब पार्टी का आंकलन है कि उत्तर प्रदेश में सत्ता हासिल करने की कोशिश करने का यह कतई सही समय है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.