ज्यादा जोगी मठ उजाड़: कहीं हो न जाए बीजेपी का हाल

ज्यादा जोगी मठ उजाड़: कहीं हो न जाए बीजेपी का हालप्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ। इसी साल हुए बिहार चुनाव में अनेक बड़े नेता बीजेपी में शामिल हुए थे। मगर परिणाम ये आया था कि पार्टी को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था। इसी तरह से उत्तर प्रदेश में अलग-अलग दलों के बड़े नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं। जिनके अलग-अलग ध्रुव हैं। अलग-अलग आफिस बने हुए हैं। प्रदेश मुख्यालय में वे आते नहीं हैं। रीता बहुगुणा जोशी, स्वामी प्रसाद मौर्य, बृजेश पाठक सहित रोजाना ही एक दो विधायक स्तर के नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं। यहां तक की इस विषय पर अब अनेक चुटकुले बनाए जाने लगे हैं। ऐसे में ये अलग-अलग ध्रुव किस तरह से भविष्य में बीजेपी का भला करेंगे, ये एक बड़ा सवाल है।

मुख्यमंत्री का चेहरा कोई नहीं

बिहार में भाजपा की ओर से ऐसी ही गलती हुई थी। तब कोई भी सीएम कैंडीडेट बीजेपी ने नहीं उतारा था। जबकि जीतनराम माझी की हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, उपेंद्र कुशवाहा की रालोसपा बीजेपी के साथ आई थी। रामविलास पासवान की लोजपा पहले से ही साथ रही थी। अनेक बड़े चेहरे बीजेपी के पास बिहार में थे। मगर बाहरियों और भीतरियों के बीच में हुई जंग के बाद भाजपा को बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद में असोम में बीजेपी ने सीएम पद पर कैंडीडेट घोषित किया। वहां जीत मिली। अब यूपी में नेता तो बड़े-बड़े आ रहे हैं, मगर सीएम पद कोई भी उम्मीदवार अब तक सामने नहीं आया है। ये बड़े नाम जो बाहर से आए हैं, वे सब खुद को अमित शाह से जुड़ा बताते हैं और उन्हीं को रिपोर्ट करेंगे, जिसको लेकर नाराजगी प्रदेश नेतृत्व में है।

स्वामी प्रसाद और केशव प्रसाद में रार या इकरार

स्वामी प्रसाद मौर्य और केशव प्रसाद मौर्य के बीच रार है या इकरार, ये तय नहीं हो पा रहा है। स्वामी प्रसाद मौर्य कहते हैं कि जब सपा में एक साथ इतने यादव नेता हो सकते हैं, तब भाजपा में दो मौर्य क्यों नहीं हो सकते हैं। मगर सच्चाई ये है कि अगर स्वामी प्रसाद मौर्य को कोई प्रेस वार्ता भी करनी होती है तो वे बीजेपी आफिस की जगह अपने आवास में ही करते हैं। रीता जोशी के आने के बाद बीजेपी के लखनऊ कैंट में पुराने नेता सुरेश तिवारी के लिए सबसे बड़ा खतरा पैदा हो गया है। उनको यहां से टिकट की उम्मीद थी। ये बात अलग है कि वे पिछली बार वे रीता जोशी से हारे थे। मगर इस बार बीजेपी से जीत की उम्मीद लगाए बैठे हैं। ऐसे में सुरेश तिवारी का विरोध भाजपा में रहते हुए रीता के लिए रहेगा। बृजेश पाठक की राजनीति का केंद्र उन्नाव रहा है। उसी क्षेत्र से साक्षी महाराज बाहर से आकर सांसद बने हैं। ऐसे में विधानसभा चुनाव में टिकट वितरण से लेकर चुनावी लड़ाई तक में कश्मकश सामने आएगी।

सैकड़ों अधिवक्ता और सपा-बसपा के नेता भाजपा में शामिल

भारतीय जनता पार्टी के अनवरत विस्तार के क्रम में सपा-बसपा के नेताओं और अधिवक्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने यूपी बार काउन्सिल के उपाध्यक्ष जानकीशरण पाण्डेय को सैकड़ों अधिवक्ताओं के साथ भाजपा में शामिल करते हुए कहा fक लोगों की कानूनी लड़ाई लडने वालों ने भाजपा की लड़ाई अपने हाथों में ले ली है। अब भाजपा और भी अधिक मजबूत हो गयी है।

सपा-बसपा की बीमारी से करना है मुक्त

रार्वटसगंज (सोनभद्र) से बसपा के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी रमेश पटेल तथा दुद्धी (सोनभद्र) विधानसभा से सपा के पूर्व प्रत्याशी रामनरेश पासवान, मिर्जापुर जिले में जमालपुर से पूर्व ब्लाक प्रमुख आनन्द पटेल व रार्वटसगंज से अवधेश पटेल को प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने भाजपा में शामिल करते हुए कहा कि भाजपा परिवार में अनवरत विस्तार हो रहा है। परिवार के विस्तार से भाजपा की ताकत बढ़ रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है, वैसे ही उत्तर प्रदेश भी आगे बढ़े, इसके लिए उत्तर प्रदेश को सपा-बसपा की बीमारी से मुक्त करना है।

अबकी बार 300 के पार

मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश गुण्डाराज, माफियाराज से मुक्त हो, महिलाओं की सुरक्षा हो, विकास कार्य प्रारम्भ हो, इसके लिए अबकी बार तीन सौ के पार के उद्घोष के साथ भाजपा की सरकार बनाने के लिए जुट जायें। जानकीशरण पाण्डेय के साथ प्रमुख रूप से ज्योति शुक्ला, कविता मिश्रा, मीनाक्षी वर्मा, नीलम चैरसिया, पारूल तिवारी, मोनिका द्विवेदी, नेहा चैरसिया, सुजीता, अशोक मिश्रा, साकेत शुक्ला, महेश सिंह, देवेन्द्र त्रिपाठी, महेश मिश्र, सकेत गुप्ता, नीरज पाण्डेय, अनूप पाण्डेय, सुनील पाण्डेय, नन्दलाल पण्डित, एकेआई अहमद, सुनील कुमार शुक्ला, अरूण पाण्डेय, सुरेश पाण्डेय, रवि स्वरूप तिवारी, कृष्णनेन्द्र अवस्थी, मनीश श्रीवास्तव, राजकुमार पाण्डेय, अरूण यादव, दयाशंकर पाण्डेय, दीपक शुक्ला, राजीव कुमार मिश्र, विनय, राजेश तिवारी सहित सैकडों अधिवक्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली। भाजपा परिवार विस्तार के इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष शिव प्रताप शुक्ल सांसद, प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर, प्रदेश प्रवक्ता डा मनोज मिश्र, प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष शुक्ला उपस्थित रहे।

Share it
Top