बाराबंकी में तीन मंत्रियों समेत 68 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद

बाराबंकी में तीन मंत्रियों समेत 68 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैदबाराबंकी में देवां ब्लॉक में शाहपुर ग्वारी गांव में सुबह लगी मतदाताओं की भीड़। फोटो-बसंत

बाराबंकी। प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में आज 12 जिलों के 69 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ। लखनऊ और इटावा के बाद सबसे हाईप्रोफाइल जिला बाराबंकी था, जहां अरविंद सिंह गोप समेत तीन मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर है। जिले की 6 सीटों पर 68.13 फीसदी मतदान हुआ।

बाराबंकी में कुर्सी विधानसभा क्षेत्र के बेलहरा के बूथों में सबसे ज्यादा भीड़ देखी गई। सुबह सात बजे से पहले से लेकर शाम को 5 बजे के बाद भी लोग लाइन में लगे नजर आए। कुर्सी कस्बे में शाम तक मतदाताओं की भीड़ नजर आई, हालांकि ग्रामीण इलाकों में सुबह भीड़ रही लेकिन मतदाताओं के आने के सिलसिला दिनभर लगा रहा। यहां पर सपा प्रत्याशी और मंत्री फरीद महफूद किदवाई और बीजेपी के साकेंद्र वर्मा में कड़ा मुकबला बताया जा रहा है। वहीं बाराबंकी सदर सीट को लेकर देवां में खासी भीड़ देखी गई। देवां के वारिस अली इंटर कॉलेज में बने मतदान केंद्र में शाम तक मतदाताओं की कतारें लगी रहीं। रामनगर विधानसभा की सूरतगंज ब्लॉक के पड़ने वाले मतदान केंद्रों पर दोपहर को ही सन्नाटा नजर आया।

जिले में इस बार 68 प्रत्याशी मैदान में हैं। इन प्रत्याशियों में तीन वर्तमान मंत्री भी हैं। परंपरागत रूप से समाजवादियों का गढ़ रहे बाराबंकी जिले में विधानसभा की छह सीटें- बाराबंकी, रामनगर, दरियाबाद, हैदरगढ़, जैदपुर और कुर्सी हैं। वर्ष 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में सपा ने इन सभी सीटों पर जीत हासिल की थी। रामनगर सीट से विधायक अरविंद सिंह गोप सूबे के ग्राम्य विकास मंत्री हैं। कुर्सी सीट से सपा विधायक फरीद महफूज किदवाई प्राविधिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं जबकि दरियाबाद से सपा विधायक राजा राजीव कुमार सिंह कृषि राज्यमंत्री हैं। इस बार ये सभी मंत्री अपने-अपने क्षेत्र से फिर सपा के उम्मीदवार हैं, लिहाजा विधानसभा चुनाव में इन सभी मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर है। इन प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 21 लाख 69 हजार 586 मतदाताओं ने आज कर दिया है। जिले में कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ। मतदाताओं को परेशानी न हो इसके लिए जिले में 2308 मतदान स्थल बनाए गए थे जहां 68.13 प्रतिशत मतदान हुआ।


आदर्श पोलिंग बूथ बना मतदाता केंद्र पटेल पंचायत इण्टर कॉलेज

पटेल पंचायती इंटर कॉलेज की सजावट आकर्षण का केंद्र रही।

रामसनेही घाट के 2017 विधानसभा क्षेत्र दरिया बाद के पोलिंग बूथ पटेल पंचायत इण्टर कॉलेज के गेट को सुबह सात बजे से पहले सजा दिया गया था। सुबह सात बजे से ही यहां लंबी लइनें दिखने लगीं। जिले में ये मतदान केंद्र आकर्षक का केंद्र बना रहा। इस बूथ को आदर्श पोलिंग बूथ बनाया गया था।

वोटर लिस्ट में नाम ही नहीं

हैदरगढ़ के नरेन्द्रपुर मदरहा में 1200 वोट में 1050 वोट ही पड़ पाए। यहां के लोगों ने आरोप लगाया कि मेरा नात वोटर लिस्ट से कटवा दिया गया है। 50 से 60 मतदाताओं ने इसकी शिकायत की। वहीं जरौली गांव में भी 739 वोटों में से कुल 610 वोट ही पड़े। इसके अलावा लखपेड़ा बाग मोहल्ले के लोगों ने भी वोटर लिस्ट में नाम होने की शिकायत की और नाराजगी जताई।

  • कुल विधानसभा सीटें-6
  • 68.13 प्रतिशत मतदान हुआ
  • 12 हजार जवानों की थी तैनाती
  • 403 वल्नरेबिल, क्रिटिकल श्रेणी के मतदान स्थल थे
  • 150 बूथों पर वीडियो ग्राफी की भी गयी

रिपोर्टिंग टीम- बाराबंकी से सतीश और आकाश, देवां से अरुण मिश्रा, बेलहरा से वीरेंद्र सिंह और मो. शानू, हैदरगढ़ से कविता, रामसनेहीघाट से अजय कश्यप

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top