गांधी के गढ़ में छिटपुट घटनाओं के बीच मतदान

गांधी के गढ़ में छिटपुट घटनाओं के बीच मतदानगांधी के गढ़ में बृहस्पतिवार को मतदान कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़ कर आमतौर से शांतिपूर्ण तरीके से ही संपन्न हुआ।

रायबरेली। गांधी के गढ़ में बृहस्पतिवार को मतदान कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़ कर आमतौर से शांतिपूर्ण तरीके से ही संपन्न हुआ। शाम करीब 5:00 बजे तक लगभग 60 फीसदी मतदान पूरे जिले में दर्ज किया गया।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सुबह यहां से विधायक अखिलेश सिंह और वर्तमान में जिनकी बेटी अदिति सिंह चुनाव लड़ रही है, उनके गांव लल्लूपुर में डीएम और एसपी के साथ उनका विवाद हुआ। जिसमें काफी देर तक एसपी और अखिलेश सिंह के बीच विवाद जारी रहा। दूसरी ओर सदर सीट पर ही कहारो के मोहल्ला इलाके में एक ही समुदाय के दो पक्षों में वोटर लिस्ट में नाम न होने के विवाद पर टकराव के हालात पैदा हुए। मगर पुलिस की सख्ती के आगे लोगों को पीछे हटना पड़ा। ऊंचाहार विधानसभा सीट पर भी कुछ विवाद सामने आए। मगर इसके अतिरिक्त कहीं से किसी तरह का कोई भी व्यवधान मतदान के दौरान नहीं पड़ा। हरचंदपुर, तिलोई, सलोन, बछरावां और ऊंचाहार सीटों पर भी सामान्य तौर पर शांतिपूर्ण मतदान हुआ।

अखिलेश सिंह डीएम, एसपी से भिड़े

अपनी छवि को लेकर कुख्यात रहे विधायक अखिलेश सिंह सुबह अपने गांव लल्लूपुर चौहान में वोट डालने गए थे। जहां मतदान केंद्र के भीतर जमावड़ा लगाने को लेकर उनको डीएम अनुज चौधरी ने टोंका। जिसके बाद में एसपी ने भी डीएम का साथ दिया। जिसके बाद में अखिलेश सिंह भड़क उठे। अखिलेश ने गाँव कनेक्शन को बताया कि एसपी लगातार उनका विरोध करते रहे हैं। दूसरे दलों ने आचार संहिता का उल्लंघन किया तो एसपी ने कोई विरोध नहीं किया। मगर हमारे कार्यकर्ताओं को परेशान किया जाता रहा। मैं केवल मतदान करने के बाद कुछ पत्रकारों से बात कर रहा था। रायबरेली के ही कहारों के मोहल्ले में एक ही समुदाय के दो गुटों में अचानक टकराव की स्थिति पैदा हुई थी, जिसको करीब 15 मिनट में पुलिस ने काबू कर लिया।

Share it
Top