यूपी चुनाव की टोह लेने प्रदेश में जमा विदेशी मीडिया

यूपी चुनाव की टोह लेने प्रदेश में जमा विदेशी मीडियाजापान के सबसे बड़े अखबार “योम्यूरी शिमबुन” के प्रतिनिधि शिगेकी ताओ 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चुनाव कितने महत्वपूर्ण कि दुनिया भर में मीडिया की नजर इन चुनाव पर है। नोटबंदी के बाद यूपी के चुनाव से नरेंद्र मोदी के भविष्य को तय किया जाएगा। इसी बिंदु पर अध्यनन करने के लिए जापान के सबसे बड़े अखबार “योम्यूरी शिमबुन” के प्रतिनिधि शिगेकी ताओ उत्तर प्रदेश आए हैं। उनका कहना है कि जापान में भारत में हुए विमुद्रीकरण को लेकर बहुत चर्चा है। इसके अलावा नरेंद्र मोदी भी वहां खास पहचान रखते हैं। ऐसे में विमुद्रीकरण, उत्तर प्रदेश के चुनाव और इसके बाद में नरेंद्र मोदी की राजनैतिक वकत को लेकर जापान का ये अखबार विशेष कवरेज करवा रहा है। केवल ये जापानी अखबार ही नहीं अमेरिका और इंग्लैंड के कई अखबारों की भी यूपी चुनाव पर नजर है।

उत्तर प्रदेश भाजपा मुख्यालय में कवरेज संबंधित जानकारी के लिए आए, “योम्यूरी शिमबुन” के साउथ एशिया मामलों के विशेष प्रतिनिधि शिगेकी ताओ का कहना है कि, “वे पिछले करीब एक साल से दिल्ली में रहे हैं। मगर विमुद्रीकरण के बाद में उनके अखबार की दिलचस्पी उत्तर प्रदेश के चुनाव को लेकर बढ़ गई। हमारे संपादकीय प्रबंधन का मानना है कि यूपी का चुनाव डिमोनेटाइजेशन के लिए लिटमस टेस्ट है। यही नहीं नरेंद्र मोदी के लिए भी ये बहुत बड़ा अवसर है खुद को साबित करने का।”

ताओ बताते हैं कि “जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे और पीएम मोदी के बीच बहुत ही मधुर संबंध हैं। दोनों की मित्रता मोदी के पीएम बनने से पहले ही गाढ़ी होने लगी थी। इस वजह से मोदी जापान में भी बहुत मशहूर हैं। उनकी ये पहचान भारत में 500 और 1000 के पुराने नोट बंद होने के बाद और बढ़ गई है। इसलिए हम यूपी चुनाव की कवरेज के लिए यहां आए हैं। ”

कई और विदेश पत्रकार यूपी भ्रमण पर

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी का कहना है “न केवल ये जापानी अखबार बल्कि न्यूर्याक टाइम्स,द् गार्डियन और वाशिंग पोस्ट के पत्रकार भी उत्तर प्रदेश में आए हुए हैं। जो अलग अलग जगहों पर बड़े नेताओं और खासतौर पर नरेंद्र मोदी की रैलियों को कवर कर रहे हैं।”

Share it
Top