रीता के जाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा: राज बब्बर

रीता के जाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा: राज बब्बरराजबब्बर (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ। रीता बहुगुणा जोशी के बीजेपी में शामिल होने से कांग्रेस पार्टी पर कोई असर नहीं पड़ेगा। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने मीडिया से बात करते हुए यह प्रतिक्रिया दी।

भाजपा में सम्मलित होना विश्वासघात

वहीं, डॉ. रीता बहुगुणा जोशी का कांग्रेस पार्टी छोड़कर भाजपा में सम्मिलित होना, राष्ट्रीय आदर्शों और धर्मनिरपेक्ष सिद्धातों के प्रति विश्वासघात है। वास्तव में यह उस गहरे षड़यंत्र का हिस्सा है, जिसके अन्तर्गत वह काफी समय से विजय बहुगुणा और अपने अन्य परिवारीजनों से मिलकर अन्य पार्टियों की दुरभिसंधि में थीं। प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति के चेयरमैन एवं पूर्व गृहमंत्री रामकृष्ण द्विवेदी और प्रदेश कांग्रेस कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी ने यह बातें कहीं।

कभी नहीं की गई अनदेखी

उन्होंने कहा कि रीता बहुगुणा जोशी महीनों से पार्टी के भीतरी रहस्यों से भाजपा को अवगत कराकर भितरघात में सम्मिलित थीं। उन्होंने यह सिद्ध कर दिया कि कितने ओछे विचार की स्वार्थी और महत्वाकांक्षी महिला हैं। उनके इस आचरण से उनकी देशभक्ति पर अंगुली उठने लगी है। दोनों नेताओं ने रीता बहुगुणा जोशी के निराधार और शरारतपूर्ण इस वक्तव्य को सिरे से खारिज कर दिया कि पार्टी में उनकी अनदेखी की गई है क्योंकि उन्हें तो समाजवादी पार्टी से आने के बाद एक नहीं बल्कि दो-दो बार पार्लियामेण्ट का चुनाव लड़ाया गया था।

नहीं पड़ेगा कोई असर

उनको राष्ट्रीय महिला कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। इसके बाद उनके दिखावटी सेक्युलर किरदार के चलते उनको प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर प्रतिष्ठत कर दिया गया। पार्टी ने ही उन्हें विधानसभा में टिकट देकर विधानसभा भेजा और राष्ट्रीय प्रवक्ता भी बनाया। कल तक हमारे जिस राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी जी के यशोगान में वह थकती नहीं थीं, आज वह उन्हें असफल बता रही है। वरिष्ठ नेताओं ने डा रीता बहुगुणा जोशी की कड़ी भतसर्ना की और स्पष्ट किया कि उनके जैसे लोगों के आने-जाने से कांग्रेस पार्टी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और हम एकजुट होकर राहुल गांधी जी के नेतृत्व में मजबूती के साथ आगामी चुनाव में उतरकर विजय प्राप्त करेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top