बसपा को मिला मुस्लिम और हिन्दु धर्मगुरूओं का समर्थन, ब्राह्मण सभा का मोदी पर हमला

बसपा को मिला मुस्लिम और हिन्दु धर्मगुरूओं का समर्थन, ब्राह्मण सभा का मोदी पर हमलाबीएसपी की रैली में मायावती के मुखैटेलगाए बैठी समर्थक महिलाएँ। फोटो PTI

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के पहले बहुजन समाज पार्टी को मुसलिम और हिन्दू धर्मगुरुओं का समर्थन मिला है। दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने बसपा को समर्थन किया तो अखिल भारतीय हिन्दू महासभा की संतसभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने बसपा को वोट देने की अपील की।

पहले चरण के चुनाव से 36 घंटा पहले समुदाय के धर्मगुरुओं की इस घोषणा से बसपा के नेता जहां गदगद हैं वहीं सपा-कांग्रेस गठबंधन के साथ ही बीजेपी के नेताओं के मांथे पर चिंता की लकीरें आ गई हैं। गुरूवार को लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की बदहाली के लिए सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी को जिम्मेदार है। उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि इस चुनाव में सभी लोग बसपा को वोट करें।

लखनऊ में पत्रकारों से बात करते शाही इमाम बुखारी।

शाही इमाम ने कहा कि पांच साल में सपा सरकार ने मुसलमानों के लिए कोई काम नहीं किया। पिछले चुनाव में मुसलमानों के साथ सपा ने जो वादा किया था उससे वादा खिलाफी की। अहमद बुखारी बसपा को वोट देने की घोषणा के साथ ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित पर्वांचल की कई सीटों पर समीकरण बदल जाएंगे। बसपा ने इस बार जहां सबसे ज्यादा मुसलमान उम्मीदवार चुनाव में उतारे हैं वहीं सपा के साथ मुजफफरनगर के दंगे का आरोप चस्पा है।

मायावती राजनीतिक संत: चक्रपाणि

हिन्दू महासभा के संत चक्रपाणि के बसपा के समर्थन में आ जाने से बीएसपी का फायदा मिल सकता है। नोएडा में एक प्रेस काफ्रेंस में स्वामी चक्रपाणि ने अपने लोगों से बसपा को वोट देने के साथ ही हर सीट पर बीजेपी को हराने का भी ऐलान किया। मायावती को राजनीतिक संत की उपाधि देते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को नेता नहीं अभिनेता करार दिया। स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि मायावती का समाज के प्रति त्याग समर्पण है, वह सिर्फ एक जाति नहीं बल्कि सर्वजन हिताया, सर्वजन सुखाय के लिए काम करती हैं। उन्होंने कहा कि नेन्द्र मोदी अपने लच्छेदार भाषण से अभी तक जनता को बेवकूफ बनाने काम किया है। भाजपा को हिन्दुओं और सनातन के लिए खतरा बताते हुए स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि मोदी के राज्य में भारत विश्व का सबसे बड़ा मांस निर्यातक देश बना गया। जिन-जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार है वहीं पर गोवध हो रहा है और संतों के साथ अत्याचार।

अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा ने मोदी पर बोला हमला

अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा भी बीजेपी के खिलाफ खुलकर मैदान में आ गई है। गुरुवार को अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र नाथ तिवारी ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करते हुए बीजेपी को हराने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी का मौजूदा नेतृत्व हर कदम पर ब्राम्हण समाज के नेताओं का अपमान कर रहा है।


Share it
Top