राम मंदिर पर जो किया रामभक्तों ने किया, आगे भी रामभक्त ही करेंगे: योगी

राम मंदिर पर जो किया रामभक्तों ने किया,  आगे भी रामभक्त ही करेंगे: योगीयोगी आदित्यनाथ।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के सांसद और फायरब्रांड नेता महंत आदित्यनाथ ने बुधवार को एक बार फिर से राम मंदिर मसले पर अहम बयान दिया। उन्होंने कहा कि, “भाजपा अयोध्या, मथुरा और काशी किसी को भी नहीं भूली है। ये हमारे आस्था से जुड़े हुए मसले हैं। राम मंदिर को लेकर आज तक जो कुछ भी किया है, वह राम भक्तों ने किया है, आगे भी रामभक्त ही करेंगे। ”

बीजेपी प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि , “प्रदेश में हर वर्ग का नागरिक परेशान है। यहाँ किसान आत्महत्या कर रहा है। बदहाल उत्तर प्रदेश को बदलने की बात हमने कही है। प्रदेश सरकार का भ्रष्टाचार चरम पर है। हर वर्ग के कर्मचारी आंदोलन कर रहे हैं। हम ये वादा करते हैं कि 120 दिन में सारा समाधान करेंगे।” आदित्यनाथ ने कहा कि, “पश्चिम उत्तर प्रदेश हरित क्रांति लाया था। वहां अब साम्प्रदायिक हिंसा के चलते पलायन हो रहा है। हमारी सरकार आएगी तब अवैध कत्लखानों को सख्ती से रोका जाएगा। पश्चिम में भैंस चोरी बड़ी समस्या है। यहां पशुधन चोरी में कसाई सक्रिय हैं। यांत्रिक कत्लखानों को बंद नहीं किया जा रहा है। पशुधन को बचाने के लिए हम इनको बंद करेंगे।”

लखऩऊ में पत्रकारों से बात करते योगी आदित्यनाथ।

उन्होंने कहा कि “इस प्रदेश का अंतिम व्यक्ति के लिए गरीब कार्ड बनाएंगे। हम सबका ख्याल रखते हैं फिर भी हम साम्प्रदायिक हैं। जबकि जो सम्प्रदाय जाति के नाम परियोजना बनाते हैं, वे सेक्युलर बन गए हैं।”उन्होंने कहा कि सपा में विवाद केवल पीआर कंपनी का ड्रामा था। किसानों को उपज का दाम नहीं मिले। बस माफिया के हाथ में खेली है। आपका विकास भाषण में है। 30 जिलों में अवैध खनन किया गया, जिसमें10 जिलों में गायत्री प्रजापति जिम्मेदार। बाकी जगह सीएम के नजदीकी हैं।

अहम मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि, अयोध्या में जो अब तक हुआ है वह रामभक्तों ने किया है आगे भी रामभक्त करेंगे। हमको काशी मथुरा भी याद है।पश्चिम में आम लोगों को कैराना में पलायन की चिंता है। हम वहां धुर्वीकरण नहीं कर रहे हैं। ये आम लोगों की समस्या है। मैनपुरी और इटावा के व्यक्ति झोला लेकर जिलों जिलों में नौकरी बांटता है। ये हमारी सरकार में नहीं होगा। ट्रिपल तलाक एक मुद्दा है। एक बड़ी आबादी ट्रिपल तलाक की वजह से बहुत बुरी स्थिति में है। हम इसलिए सुप्रीम कोर्ट में जाएंगे। जनसांख्या का असंतुलन एक सच्चाई है। व्यापक पलायन हुआ है। तुष्टिकरण की पोषक सरकार बानी रही तो पश्चिम की हालात बुरे हैं।


Share it
Top