आपकी दीवार पर लगा पोस्टर आपको पहुंचा सकता है जेल 

आपकी दीवार पर लगा पोस्टर आपको पहुंचा सकता है जेल चुनाव आचार संहिता के नियम के तहत अगर कोई व्यक्ति अपने घर की दीवार पर लिखे नारे या चस्पा इश्तिहार की शिकायत चुनाव आयोग में नहीं करता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

लखनऊ। अपनी दीवार पर लिखे नारे या चस्पा पोस्टर की तत्काल शिकायत चुनाव आयोग में करें, वरना आप आचार संहिता उल्लंघन में फंस जाएंगे। इस मामले में अगर किसी ने आपकी शिकायत की और आप पर पोस्टर लगवाने के बाद कोई विरोध न करने का दोष सिद्ध हुआ तो एक साल तक की सजा आपको हो सकती है। शिकायत होने पर चुनाव आयोग ऐसे मामलों में सार्वजनिक और निजी संपत्ति के दुरुपयोग के आर्टिकल 171 बी के तहत मुकदमा दर्ज करेगा।

प्रदेश भर में चुनाव आयोग भले ही 27 लाख पोस्टर और होर्डिंग हटाने का दावा कर रहा है मगर दीवारों पर चस्पा इस तरह के पोस्टर गाँव-शहर हर जगह से सामने आ रहे हैं।

चुनाव आचार संहिता के नियम के तहत अगर कोई व्यक्ति अपने घर की दीवार पर लिखे नारे या चस्पा इश्तिहार की शिकायत चुनाव आयोग में नहीं करता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी जिसमें एक साल तक की सजा का प्राविधान तय है मगर जानकारी के अभाव में इस तरह से आम लोगों की दीवारों और घरों का जमकर दुरुपयोग किया जा रहा है।

लखनऊ की सदर तहसील में आने वाले गाँव मख्दूमपुर में घरों की दीवारों पर कई राजनैतिक दलों के नारे, नेताओं के अभिनंदन और सरकारी योजनाओं का प्रचार करने वाले पोस्टर सियासी अंदाज में लगे हुए हैं मगर गाँव वालों को इस बात की जानकारी नहीं कि इनका लगा रहना घातक है। इस बारे में गाँव के प्रधान देवेश यादव ने बताया कि गाँव के लोगों के लिए तो ये परंपरा है मगर उनको इस बात की जानकारी नहीं है कि अपनी ही दीवार पर किसी अज्ञात ने कोई पोस्टर लगा दिया तो वे आचार संहिता के उल्लंघन में शिकार हो जाएंगे।

इसी तरह से सदर तहसील में कुर्सी रोड के गाँव मिर्जापुर की दीवारों पर भी नेताओं के पोस्टर लगे हुए हैं मगर आयोग की नजर इस ओर नहीं है, न ही कोई शिकायत नागरिक कर रहे हैं। ऐसे में आचार संहिता का खुला उल्लंघन किया जा रहा है। यहां रहने वाले रियाज बताते हैं, “हमको पता ही नहीं है कि इस तरह से हमारी ही दीवार के गंदा होने पर भी हम ही जिम्मेदार हैं। इस बारे में और जागरूकता फैलाए जाने की जरूरत है।”

Share it
Top