'अकोनकागुआ' पर अरुणिमा सिन्हा ने फहराया तिरंगा

अकोनकागुआ पर अरुणिमा सिन्हा ने फहराया तिरंगागाँव कनेक्शन

लखनऊ। कहते हैं अगर हौसला हो तो कोई भी मुश्किल आप को आपके मंजिल तक पहुंचने से नहीं रोक सकती। इसी बात को सिद्ध करते हुए कृत्रिम पैर के सहारे एवरेस्ट फतेह करने वाली वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा ने एक और अनोखी उपलब्धि अपने नाम कर ली है।

अरुणिमा सिन्हा ने एशिया के बाहर सबसे ऊंची पर्वत चोटी मानी जाने वाली माउंट 'अकोनकागुआ' को भी अपने हौसले के दम पर नापने का कारनामा कर दिखाया है।

अरुणिमा ने बताया उन्होंने अर्जेंटीना में स्थित 6,962 मीटर ऊंची माउंट अकोनकागुआ पर्वत चोटी पर पहुंचने की कामयाबी 25 दिसंबर को शाम 4:30 बजे हासिल की और वहां तिरंगा फहराया।

अरुणिमा मिशन 7 समिट के तहत अब तक दुनिया की पांच सबसे ऊंची पर्वत चोटियों पर पहुंच चुकी हैं और कृत्रिम पैर के सहारे ऐसा करने वाली वह दुनिया की पहली महिला बन गई हैं।

उन्होंने कहा कि वह जल्द ही बाकी दो पर्वत चोटियों पर भी फतेह हासिल करेंगी। 

उन्होंने अकोनकागुआ पर गत 12 दिसंबर को चढ़ाई शुरू की थी।

साल 2011 में एक ट्रेन हादसे में अपना बायां पैर गंवाने के बाद अरुणिमा ने 21 मई 2013 को दुनिया को चौंकाते हुए कृत्रिम पैर के सहारे एवरेस्ट फतेह किया था। उनकी इस उपलब्धि का सम्मान करते हुए उन्हें पद्यश्री से नवाजा गया था।

Tags:    India 
Share it
Top