‘इज़राइल की ड्रिप सिंचाई विशेषज्ञता की मदद लेगा भारत’

‘इज़राइल की ड्रिप सिंचाई विशेषज्ञता की मदद लेगा भारत’gaonconnection

यरुशलम। जल संसाधन मंत्री उमा भारती आगामी इज़राइल यात्रा के दौरान भारत, इज़राइल की वैश्विक स्तर पर विख्यात ड्रिप सिंचाई विशेषज्ञता को अपनाने के संदर्भ में प्रयास करेगा। 

उमा का दौरा जल प्रबंधन में प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल की विशेषज्ञता हासिल करने की संभावना तलाशने के लिए हो रहा है। जल प्रबंधन के क्षेत्र में खुद को एक अगुवा के तौर पर साबित कर चुका इज़राइल सिंचाई के लिए अनुपयोगी पानी का इस्तेमाल करने की व्यवस्था बनाई है। 

इसके तहत वह अपने घरेलू इस्तेमाल के बाद बरबाद होने वाले 80 फीसदी जल का शोधन करता है और फिर इसका उपयोग सिंचाई में करता है। इज़राइल में सिंचाई में इस्तेमाल होने वाले इस पानी की हिस्सेदारी करीब 50 फीसदी है। इज़राइल के कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री यूरी एरियल ने इस साल अप्रैल में भारत जल सप्ताह में भाग लेने वाले विशेषज्ञों के दल का नेतृत्व किया था और कहा जा रहा है कि उन्होंने उमा भारती के साथ मुलाकात के दौरान गंगा नदी की सफाई की परियोजना में इज़राइल की मदद की पेशकश भी की थी।

जल प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम करने वाली कुछ प्रमुख इज़राइली कंपनियां पहले से ही भारत में सक्रिय हैं और अपने स्थानीय ग्राहकों को सेवा मुहैया कराने के लिए भारत में विनिर्माण इकाइयां भी स्थापित की हैं। उमा का तीन दिवसीय इज़राइल दौरा 28 जून से आरंभ हो रहा है। 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top