आजम ख़ान की छवि बिगाड़ने की कोशिश: राजेंद्र चौधरी

आजम ख़ान की छवि बिगाड़ने की कोशिश: राजेंद्र चौधरीगाँवकनेक्शन

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश विधानसभा में संसदीय कार्य मंत्री आजम खां की कथित विवादित टिप्पणी पर राज्यपाल राम नाईक के तल्ख रुख के बाद राज्य सरकार और राजभवन के बीच टकराव बढ़ गया।

सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी ने आज़म खान का बचाव करते हुए राज्यपाल पर पलटवार किया और तल्ख लहजे में कहा कि खां की प्रतिभा और योग्यता पर सवाल उठाना अनुचित है और साम्प्रदायिकता के सहारे अपनी सियासी रोटियां सेंकने वाली ताकतें उनके चरित्र हनन में जुटी हैं।

सपा के प्रान्तीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा, ''सपा सरकार की बढ़ती लोकप्रियता से कुछ तत्व उसकी छवि को बिगाड़ने में लग गये हैं। वे एक ना एक मंत्री को निशाना बनाकर अपनी घटिया मानसिकता का प्रदर्शन कर रहे हैं। पहले कुछ लोगों ने मंत्री गायत्री प्रजापति को लेकर अनर्गल बयानबाजी की और अब आजम खां को आलोचना का शिकार बनाया जा रहा है।''

उन्होंने कहा कि आज़म खान के संसदीय कौशल की प्रशंसा विधानसभा में विपक्ष के नेता भी करते हैं। उनकी प्रतिभा और योग्यता पर सवाल उठाना किसी भी तरह उचित नहीं है। चौधरी ने कहा 'आजम खां के चरित्र हनन के पीछे वो ताकतें हैं जो साम्प्रदायिकता के सहारे अपनी राजनीति की रोटियां सेंकते हैं।      

मालूम हो कि प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने संसदीय कार्यमंत्री मोहम्मद आजम खां द्वारा विधानसभा में अपने प्रति की गयी टिप्पणी को परखने के लिये मांगी गयी सामग्री के अवलोकन के बाद विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय को कल लिखे पत्र में संसदीय कार्य मंत्री के तौर पर खां की योग्यता पर सवाल उठाते हुए कहा था कि इस बारे में उन्हें मुख्यमंत्री से विचार करना पडेगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top