Read latest updates about "Ta‍‍za Khabar" - Page 1

  • क्या आप जानते हैं हर रोज ज़हर खा रहे हैं हम...

    लखनऊ। जब आप फल और सब्जियां खरीदने बाजार जाते हैं, तो कौन सी सब्जियां खरीदते हैं ? वही न जो सबसे ज्यादा हरी और चमकदार होती हैं, जिन फलों पर कोई दाग नहीं होता है... थोड़ा ठहरिए आप की इस पसंद को पूरा करने के लिए इन फल और सब्जियों को भारी मात्रा में कीटनाशक छिड़के जाते हैं। कीटनाशक यानी वो जहर जो...

  • विद्यालय प्रबंधन समितियों के सहयोग से शिक्षा के स्तर में आया सुधार

    लखनऊ। विद्यालय प्रबंधन समिति की मदद से शिक्षा के स्तर में क्या बदलाव आए हैं और शिक्षा व्यवस्था में यूनिसेफ की क्या महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है, इस बारे में सर्व शिक्षा अभियान, उत्तर प्रदेश के राज्य परियोजना निदेशक डॉ. वेदपति मिश्रा ने खास बातचीत में कई जानकारियां साझा कीं।डॉ. वेदपति मिश्रा बताते...

  • अब डकैतों के लिए नहीं, इस संग्रहालय के लिए जाना जाएगा चंबल

    कभी यहां की घाटियों में गोलियों की तड़तड़ाहट गूंजती थी, डकैतों के आतंक से लोग जाना नहीं चाहते थे, लेकिन आज वही चंबल संग्रहालय के लिए जाना जाएगा। इस संग्रहालय में अबतक करीब 14 हजार किताबें, सैकड़ो दुर्लभ दस्तावेज, विभिन्न रियासतों के डाक टिकट, विदेशों के डाक टिकट, राजा भोज के दौर से लेकर सैकड़ो...

  • बिरसा मुंडा 25 साल की उम्र में ही बन गए थे आदिवासियों के नायक

    बिरसा मुंडा, यह नाम सुनते ही अक्सर हमारे दिमाग में एक 'आदिवासी नायक' का चित्र उभरता है, जिसने आदिवासियों के अधिकारों की लड़ाई लड़ी। बिरसा मुंडा न सिर्फ आदिवासियों के बल्कि इस देश की जनता के नायक हैं। बिरसा मुंडा का जन्म 1875 ई. में झारखण्ड राज्य के रांची में हुआ था। उनके पिता, चाचा, ताऊ सभी ने...

Share it
Share it
Share it
Top