आतंकवादियों से निपटने के लिए सोशल मीडिया की निगरानी जरूरी: भारत

आतंकवादियों से निपटने के लिए सोशल मीडिया की निगरानी जरूरी: भारतgaonconnection, आतंकवादियों से निपटने के लिए सोशल मीडिया की निगरानी जरूरी: भारत

संयुक्त राष्ट्र (भाषा)। भारत ने कहा है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की जरूरी सुरक्षा के साथ सोशल मीडिया पर सावधानी से निगरानी की जरूरत है क्योंकि आतंकवादी समूह अपने उग्रवादी मंसूबों को पूरा करने के लिए ऐसे मंचों का उपयोग युवाओं को भटकाने के लिए कर रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने ऐसे मंचों पर नफरत के लक्षित प्रचार पर भी चिंता जताई है।

अकबरुद्दीन ने आतंकवाद के विमर्शों और विचारधाराओं के निरोध पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की खुली चर्चा में कहा कि आतंकवादी समूहों के हाथों सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मद्देनजर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की जरूरी सुरक्षा के साथ सोशल मीडिया पर सावधानी से निगरानी की जरूरत है।

उन्होंने कहा, 'लोगों को एक साथ लाने के लिए बनाए गए सोशल मीडिया के फैलते नेटवर्कों पर नफरत के लक्षित प्रचार से मदद पा कर महाद्वीपों के विकासशील और विकसित देशों में एक समान आतंकवाद के हाइड्रा जैसे राक्षस का फैलाव जारी है।'      

अकबरुद्दीन ने कहा आईएसआईएस में विदेशी आतंकवादी लड़ाके शामिल हो रहे हैं जिनमें से ज्यादातर 15 से 25 साल के युवक हैं जो व्यापक विविधता वाले जातीय समूहों और आर्थिक श्रेणियों से आते हैं और इसका फैलाव इसके पुश ऐंड पुल फैक्टर की जबरदस्त जटिलता का प्रतीक है।

Tags:    India 
Share it
Top