अब स्कूलों के पास नो ट्रैफिक जोन, एक अप्रैल से लागू

अब स्कूलों के पास नो ट्रैफिक जोन, एक अप्रैल से लागूGaon Connection

जौनपुर। जिले के स्कूलों की 100 मीटर परिधि अब नो ट्रैफिक जोन बनने जा रही है। इस नो ट्रैफिक जोन में कोई भी वाहन नहीं जा सकेंगे। इसके लिए शासन ने जरूरी दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। नो ट्रैफिक जोन बनाने के लिए स्कूल के प्रधानाध्यापक और प्रबंधकों को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इसके प्रति जागरूक करने के लिए स्काउट गाइड छात्रों की भी मदद ली जाएगी। साथ ही स्कूलों में प्रशिक्षण कक्षाएं भी चलाई जाएंगीं। 

परिषदीय स्कूलों के छात्र-छात्राओं की सुरक्षा के लिए सीएम अखिलेश यादव ने भी चिंता जाहिर की है। सीएम ने इस ओर कदम बढ़ाते हुए स्कूलों के आसपास नो ट्रैफिक जोन घोषित करने की रणनीति बनाई है। परिषदीय के साथ ही गैर सरकारी स्कूल भी इसका लाभ पाएंगें। 

सड़क सुरक्षा को प्राथमिकताओं में इसको शामिल कर शासन ने कार्ययोजना लागू कर दी है। स्कूलों के 100 मीटर परिधि में नो ट्रैफिक जोन के लिए प्रधानाचार्य से लेकर प्रबंधक तक को जिम्मेदारी उठानी होगी।  इसके साथ ही स्कूल के ही एक शिक्षक को यातायात की जानकारी और जागरूकता के लिए नोडल शिक्षक का जिम्मा सौंपा जाएगा। ये शिक्षक अपने स्कूल के बच्चों को यातायात नियमों और परिवन विभाग व यातायात पुलिस के सहयोग के लिए प्रशिक्षित करेंगें। स्कूली बच्चों को सड़क पर चलने और सावधानी बरतने की जानकारी के लिए जिला स्तर पर कमेटी का गठन किया जाएगा। इस समिति में बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों को भी सदस्य बनाया जाएगा। इस अभियान की शुरूआत आने वाले नए सत्र यानी एक अप्रैल से होने जा रही है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top