अगैती गोभी की फसल से लाखों की कमाई

अगैती गोभी की फसल से लाखों की कमाई

जौनपुर। गंगेश यादव (50 वर्ष) उत्तर प्रदेश के लाखों दूसरे किसानों की तरह ही हैं। लेकिन, खेती करने का उनका तरीका उन्हें दूसरों से अलग करता है। गंगेश सब्जियों की अगैती खेती से साल में करीब सात से आठ से लाख की कमाई करते हैं।

जिला मुख्यालय से नौ किलोमीटर दूर पश्चिम दिशा में करंजाकला ब्लॉक में गोमती नदी के किनारे बसा गाँव कोहड़ा सुल्तानपुर के निवासी गंगेश यादव लगभग 15 वर्षों से लगातार गोभी की उन्नत खेती कर रहे हैं। वर्ष में छह महीने सितम्बर से फरवरी तक गोभी की खेती करते हैं। उसके बाद गर्मियों में टमाटर और करेला उगाते हैं।

फूल गोभी के खेत में खड़े गंगेश यादव बताते हैं, "सीजन से पहले फसल लगाने की कोशिश करता हूं। इस बार भी मैने सितंबर में ही गोभी की रोपाई कर दी थी। दूसरे किसान जब गोभी लगाने की तैयारी कर रहे थे उस समय हमारे खेत में फूल आने लगे थे।"

वो आगे बताते हैं, "अगैती खेती में रिस्क तो रहता है लेकिन मुनाफा होने के अवसर ज्यादा। साढ़े पांच बीघे में पूरे सीजन में करीब छह लाख की गोभी बिकती है, जबकि लागत दो से ढाई लाख की ही आती है।"

गंगेश यादव आधुनिक तरीके से खेती करते हैं। खुद की फसल से बीज तैयार करते हैं फिर उसकी नर्सरी बनाते हैं। पांच बीघे में गोभी लगाने के लिए वो करीब तीस हजार पौधे तैयार करते हैं।

गंगेश आगे बताते हैं, मैं एक ही सीजन में दो बार गोभी उगाता हूं, एक बार पौधे लागने के कुछ दिनों बाद फिर से नर्सरी कर देता हूं। एक तरफ अगैती फसल कट जाती है तो पहले से तैयार पौधे लगा देता हूं। दूसरी फसल में फूल ज्यादा महंगे नहीं बिकते, लेकिन पैदावार अच्छी होने से आदमनी अच्छी हो जाती है।"

अगैती फसल में प्रतिदिन 150 से 200 फूल गोभी तैयार होती है। जो अक्टूबर में प्रतिदिन 1,000 फूल प्रतिदिन तक पहुंच जाता है। हालांकि सीजन खत्म होते फिर 200 से 100 फूल गोभी आ जाती है।

गंगेश की देखा-देखी गांव में आधा दर्जन से ज्यादा किसान सब्जियों की खेती करने लगे हैं। इस माह में सिर्फ इसी गांव में करीब 20 बीघे गोभी की अगैती फसल लगी है।

गंगेश के नाम के चर्चे पूरे जिले हैं। जौनपुर पुरानी सब्जी मंडी के आढ़ती फूलचंद मौर्य बताते हैं, ''जौनपुर में कई जगह सब्जियां उगाई जाती हैं, लेकिन सबसे पहले इसी गाँव से गोभी आती है।"

मुनाफे के बारे में पूछने पर गंगेश यादव बताते हैं, "अक्टूबर में तो एक फूलगोभी की कीमत 35 रुपये तक मिल जाती है, लेकिन बाद में रेट गिर जाते हैं। क्योंकि आमद काफी हो जाती है।"

इसी गांव के कैलाश यादव बताते हैं, हम लोग भी अब सब्जियां उगाते हैं, इस वक्त गोभी लगा रखी है। जो नवंबर के दूसरे हफ्ते तक खत्म हो जाएगी, उसके बाद इसी खेत में गेहूं बो देंगे।" 

गंगेश के सुझाव

सब्जियों की खेती से अच्छी कमाई के लिए किसान सीजन के मुताबिक थोड़ा पहले फसल लगाएं। खेत में भरपूर मात्रा में गोबर और कंपोस्ट खाद डालें। जरूरत पड़ने पर रासायनिक और कीटनाशकों का भी उपयोग करें।

रिपोर्टर - अमित कुमार मौर्य

Tags:    India 
Share it
Top