गुवाहाटी में 24,501 रुपए प्रति किलो बिकी बैंगनी चाय

पहली बार भारत में बैंगनी चाय का उत्पादन किया जा रहा है। चाय की उच्चतम कीमत पर बिक्री कन्टेम्पररी टी ब्रोकर्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा की गयी

गुवाहाटी में 24,501 रुपए प्रति किलो बिकी बैंगनी चायPurple tea (Photo Credit- Tea board India)

लखनऊ। गुवाहाटी चाय नीलामी केंद्र ने बुधवार को दावा किया कि उसने 1.2 किलोग्राम पर्पल (बैंगनी) चाय की 24,501 रुपए प्रति किलोग्राम की रिकॉर्ड कीमत पर बिक्री की है। चाय उद्योग के सूत्रों ने कहा कि पर्पल चाय का उत्पादन अरुणाचल प्रदेश के डोनियो पोलो टी एस्टेट द्वारा किया जाता है जिसकी यहां डुगर कंज्यूमर प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड को बिक्री की गयी।

गुवाहाटी चाय नीलामी खरीदार एसोसिएशन के सचिव दिनेश बिहानी ने पीटीआई-भाषा को बताया, "पहली बार भारत में बैंगनी चाय का उत्पादन किया जा रहा है। चाय की उच्चतम कीमत पर बिक्री कन्टेम्पररी टी ब्रोकर्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा की गयी।" गुवाहाटी चाय नीलामी केंद्र, जिसने हाल ही में अपने स्टॉक में पर्पल टी को शामिल किया है, ने गोल्ड टिप, सिल्वर नीडल्स और अन्य विशेषता वाले चाय जैसे विभन्नि प्रकार के चायों की बिक्री करता है।

ये भी पढ़ें- देश में चाय का उत्पादन 6.7 फीसदी गिरा, निर्यात में 6.5 फीसदी की बढ़ोतरी

वहीं चाय उत्पादन में दुनिया में दूसरे नंबर पर आने वाले भारत में कई चाय बागानों के अस्तित्व पर खतरा भी मंडरा रहा है। चाय बोर्ड के अनुसार, भारत में जितने में भी चाय बागान हैं, उसमें से 18 प्रतिशत की स्थिति बहुत ही दयनीय है। देश के 16 राज्यों में चाय के बागान हैं। असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल में देश का 95 प्रतिशत हिस्सा पैदा होता है।

ये भी पढ़ें- औषधीय गुणों से भरपूर चाय की चुस्कियां

चाय बोर्ड के अनुसार पश्चिम बंगाल की दार्जिलिंग चाय दुनिया की सबसे महंगी और खुशबूदार चाय मानी जाती है, यहां पर लगभाग 86 बागान हैं, जहा चाय तैयार की जाती है। ये भी पढ़ें- औषधीय गुणों से भरपूर चाय की चुस्कियां असम चाय उत्पादन में असम देश का सबसे बड़ा राज्य है। तमिलनाडु का नीलगिरि पहाड़ भी चाय उत्पादन के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। केरल का मुन्नार हिल स्टेशन में भी एक ऐसी जगह हैं, जहां बड़ी मात्रा में चाय बागान हैं। हिमाचल प्रदेश की कांगड़ा चाय भी देश-दुनिया में अपनी अलग पहचान रखता है, लेकिन इसका अस्तित्व भी अब खतरे है।

(भाषा से इनपुट)


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.