बाढ़ से उत्तरी बंगाल में चाय का उत्पादन घटा

बाढ़ से उत्तरी बंगाल में चाय का उत्पादन घटाgaonconnection

कोलकाता (भाषा)। उत्तरी बंगाल के दूआर्स और तेराई क्षेत्र में भारी वर्षा से चाय की फसल को भारी नुकसान हुआ है। बाढ़ की वजह से कई जगह बागानों में चाय की झाड़िया बह गईं हैं।

भारतीय चाय संघ के संयुक्त सचिव सुजीत पात्रा ने कहा, ‘‘ पिछले कई दिनों से हो रही निरंतर बारिश की वजह से उत्तरी बंगाल में स्थिति बहुत खराब है और कई जगह चाय की झाड़ियां बह गई हैं।'' उत्तरी बंगाल में एंड्रयू युले, गुडरिक और लक्ष्मी टी जैसी प्रमुख कंपनियों के बागान हैं।

एंड्रयू युले के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक सुनील मुंशी ने कहा कि उसके बनेरहाट और काराबल्ला स्थित दो बागान 35 इंच पानी में डूबे हैं।

मुंशी ने कहा कि बारिश से न केवल फसल को बल्कि श्रमिकों को भी नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर नुकसान लंबे समय विशेषकर 1993 और 2000 के बाद हुआ है। पिछले साल उत्तरी बंगाल में दार्जीलिंग को छोड़कर 31.5 करोड़ किलोग्राम चाय का उत्पादन हुआ था। गुडरिक चाय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक अरुण सिंह ने कहा कि उत्तरी बंगाल में स्थिति बहुत खराब है। बाढ़ का पानी चाय बागानों और श्रमिकों की कालोनी में घुस गया है।

Tags:    India 
Share it
Top