भारत में बौद्ध स्थलों को खंगालने की पुरातत्वविदों की इच्छा

भारत में बौद्ध स्थलों को खंगालने की पुरातत्वविदों की इच्छाgaonconnection

बीजिंग (भाषा)। भारतीय और चीनी पुरातत्वविद भारत से चीन में बौद्ध धर्म के प्रसार का पता लगाने के लिए एक सांस्कृतिक सहयोग परियोजना पर चर्चा कर रहे हैं।

अधिकारियों ने आज बताया कि समाज विज्ञान की चीनी अकादमी के तहत पुरातत्व संस्था सारनाथ, भारत में महत्वपूर्ण स्थलों पर भारतीय पुरातत्वों से तालमेल करेगी। संस्थान के निदेशक वांग वेई ने बताया कि परियोजना के तहत खुदाई, सांस्कृतिक अवशेष संरक्षण और सुरक्षा निगरानी एवं नियंत्रण शामिल होने की संभावना है। उत्तर-पूर्वी भारत में सारनाथ में बुद्ध ने अपना पहला उपदेश दिया था और बौद्धों के लिए पवित्र स्थलों में  इसे एक माना जाता है।

सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने वांग के हवाले से कहा है, ‘‘हम बेहद उत्साहित हैं क्योंकि हमारे पुरातत्वविद भारतीय अवशेषों को देख सकेंगे और संरक्षित कर पाएंगे जिसे केवल उन्होंने किताबों में देखा है।'' रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के तहत पुरातत्व संस्थान के निदेशक संजय कुमार मंजूल ने परियोजना के लिए जोरदार समर्थन किया है जिसके नवंबर में शुरु होने और 2020 तक चलने की उम्मीद है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top