भारतीय कला को नुकसान पहुंचा रहा है बॉलीवुड: सितारवादक शुज़ात खान

भारतीय कला को नुकसान पहुंचा रहा है बॉलीवुड: सितारवादक शुज़ात खानgaonconnection

बेंगलुरु (भाषा)। प्रख्यात सितारवादक शुज़ात खान (56 वर्ष) का मानना है कि बॉलीवुड के कारण भारत में लोकगीत सहित कला को नुकसान पहुंच रहा है और बॉलीवुड ने उन्हें कभी प्रेरित नहीं किया।

शुज़ात खान ने कहा, ‘‘बॉलीवुड ने अब अति कर दी है और इसके कारण देश में कला को नुकसान पहुंच रहा है। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि यह बुरी चीज है लेकिन बॉलीवुड के कारण हमारे लोकगीतों को नुकसान पहुंच रहा है। कभी-कभी तो बॉलीवुड ने मधुर गीत दिए तो कभी इसने नुकसान भी पहुंचाया है।'' सितावादक ने कहा कि अपनी उपलब्धियों को लेकर वह बहुत ‘‘आत्म संतुष्ट'' हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पूरी दुनिया की यात्रा की है और सर्वश्रेष्ठ कार्यक्रमों और आयोजनों में मैंने एक साल में 100 से अधिक कार्यक्रम किए हैं, जहां कभी अमिताभ बच्चन भी नहीं जा सकते। मैंने लंदन में रॉयल अल्बर्ट हॉल में प्रस्तुति दी है। मैंने न्यूयार्क में कार्नेबी हॉल में भी प्रस्तुति दी है। वह (अमिताभ बच्चन) एक महान शख्सियत हैं लेकिन मैं यह कहना चाहता हूं कि हम लोग उन जगहों पर जाते हैं जहां बॉलीवुड कभी जा नहीं सकता।'' उन्होंने कहा, ‘‘बॉलीवुड ने कभी मुझे प्रेरित नहीं किया। तीन मिनट के गीत कभी मुझे प्रेरित नहीं करते। मैं रविशंकर, विलायत खां, भीमसेन जोशी, उस्ताद आमिर खां साहब को सुनकर मैं प्रेरित होता हूं और इसके लिए वे कम से कम आधा घंटा या अधिक समय तक प्रस्तुति देते हैं।'' 

शुज़ात खान बेंगलुरु में 10-12 जून तक आयोजित हो रहे ‘फकीरी बेंगलुरु लोक उत्सव' में हिस्सा लेने आए हैं। बहरहाल, उस्ताद विलायत खां के पुत्र ने कहा कि आरडी बर्मन के संगीत में नयापन था और इसलिए उनके नए प्रयोगों के कारण वह उन्हें पसंद थे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top