बृहस्पतिवार को भी नहीं हो सकी किंगफिशर हाउस की नीलामी

बृहस्पतिवार को भी नहीं हो सकी किंगफिशर हाउस की नीलामीgaonconnection

मुंबई (भाषा)। विजय माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व मुख्यालय किंगफिशर हाउस की नीलामी बृहस्पतिवार को भी नहीं हो सकी क्योंकि कोई भी खरीददार सामने नहीं आया।

किंगफिशर हाउस के लिए आरक्षित मूल्य को घटाकर 135 करोड़ रुपए किया गया है। बैंकों का कहना है कि उन्हें इस भवन के लिए आरक्षित मूल्य को और घटाना पड़ सकता है। मार्च में इसका आरक्षित मूल्य 150 करोड़ रुपए था और तब भी नीलामी नहीं हो सकी थी। यह संपत्ति यहां घरेलू हवाई अड्डे के पास है और इसे ‘प्राइम प्रोपर्टी' माना जाता है। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की अगुवाई में 17 बैंकों का समूह इस संपत्ति को बेचने की कोशिश कर रहा है। इस समूह का किंगफिशर एयरलाइंस पर 9,000 करोड़ रुपए से अधिक का बकाया है।

किंगफिशर हाउस का निर्मित क्षेत्र 17,000 वर्गफीट से ज़्यादा का है और यह विले पार्ले में स्थित है। इसके लिए बोली 11 बजे शुरु हुई और किसी बोलीदाता के सामने  नहीं आने के कारण विफल रही। सूत्रों ने कहा, ''किंगफिशर हाउस के लिए एक भी बोली नहीं मिली।'' उन्होंने मौजूदा आरक्षित मूल्य को भी ऊंचा बताते हुए कहा कि इसमें और कमी की जरुरत है। कुछ बैंकों ने विजय माल्या को ‘विलफुल डिफाल्टर' घोषित किया है और ऐसा कहा गया है कि वह इस समय ब्रिटेन में हैं।

Tags:    India 
Share it
Top