चेरापूंजी में बनेगा रेन म्यूज़ियम और रिसर्च सेंटर

चेरापूंजी में बनेगा रेन म्यूज़ियम और रिसर्च सेंटरgaonconnection

सोहरा (भाषा)। मेघालय सरकार की प्रस्तावित योजना के मुताबिक़ सालों से मूसलाधार बारिश के लिए मशहूर सोहरा में अब वर्षा संग्रहालय और अनुसंधान केंद्र की स्थापना की जायेगी। ये स्थान पहले चेरापूंजी के नाम से जाना जाता था। महाबलेश्वर के हाई एल्टीट्यूड क्लाउड फिजिक्स लैबोरेटरी की तर्ज़ पर बनाये जाने वाला प्रस्तावित केंद्र बारिश पर उच्च स्तर के अनुसंधान के लिए जरूरी वैज्ञानिक सहायता उपलब्ध कराने के अलावा लोगों की विशिष्टता और उनकी संस्कृति को दिखायेगा।

संग्राहलय और केंद्र में पर्यटकों को  संस्कृति और बारिश के बारे में जानकारी मुहैया करायी जायेगी। ये घटक लंबे समय से वहां के लोगों के जीवन का हिस्सा हैं। एमबीडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'राज्य सरकार ने मेघालय बेसिन विकास प्राधिकरण के माध्यम से यहां एक वर्षा संग्राहलय और अनुसंधान केंद्र की स्थापना का निर्णय लिया है।' उन्होंने कहा कि प्रस्ताव पर काम चल रहा है और इसके राज्य और केंद्र की विभिन्न एजेंसियों का समर्थन मिलने की संभावना है।

Tags:    India 
Share it
Top