छोटी सी उम्र में जिले का नाम रौशन कर रहा विवेक

छोटी सी उम्र में जिले का नाम रौशन कर रहा विवेकगाँव कनेक्शन

शाहजहांपुर। प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने वाले और दर्जनों मेडल पा चुके विवेक गुप्ता (17 वर्ष) को आर्थिक सहायता न मिल पाने की वजह से कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

जिला शाहजहांपुर का अनेक बार नाम रोशन करने वाले विवेक इस समय 12वीं कक्षा में पढ़ रहा है। विवेक के पिता ने तीन साल की उम्र में ही कोच एवं ताइक्वांडो संघ के तकनीकी निदेशक व महासचिव रहे एच.एस थापा से विवेक को ताइक्वांडो का प्रशिक्षण दिलवाना शुरू कर दिया था। कुछ ही समय में विवेक की खेल प्रतिभा को देखते हुए, प्रशिक्षक एच.एस थापा ने विवेक को नि:शुल्क प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया, जिसके परिणामस्वरूप वर्ष 2006 में काशीपुर उत्तराखण्ड में आयोजित प्रदेश स्तरीय ताइक्वांडो चेम्पियनशिप में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक प्राप्त किया।

गाँव कनेक्शन के संवाददाता ने जब विवेक से बात की तो उन्होंने बताया, '' ताइक्वांडो सीखना बेहद कठिन है, जरा-सी चूक होने पर अपना बचाव न कर पाने की स्थिति में शरीर के किसी भी हिस्से की हड्डी खास तौर पर गले, हाथ, पैर व सीने की पसलियां टूट सकती हैं।’’

अपनी कामयाबी के बारे में विवेक बताते हैं, '' ताइक्वांडो कोई भी अपनी लगन व मेहनत से सीख सकता है परन्तु इसका दुरूपयोग नहीं करना चाहिए। इसका उपयोग निर्बलों की मदद व आत्मरक्षा के लिए करना चाहिए। रही उपलब्धियों की बात तो यह उपलब्धियां मेरे लिए कोई मायने नहीं रखती हैं। यदि मुझे मौका मिला तो मैं अपनी लगन व मेहनत के बलबूते पर और आगे जाना चाहता हूं, जिससे मैं अपने देश और जनपद का नाम रोशन कर सकूं।’’

अनेक प्रमाण पत्र और अपनी आयु से भी ज्यादा स्वर्ण, रजत व कांस्य  पदक विजेता उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड के अनेक जनपदों आगरा, लखनऊ, फैजाबाद, बदायूं, बरेली, नैनीताल और काशीपुर आदि में राष्ट्रीय युवा प्रदेश स्तरीय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप में अपनी प्रतिभा दिखाने वाले विवेक आर्मी आफीसर बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। परन्तु आर्थिक तंगी के चलते उसे अपने भविष्य के प्रति काफी चिंता है।

उत्तराखण्ड सरकार ने विवेक कुमार गुप्ता की इस उपलब्धि का पुरस्कार, 'स्पोर्टस अथार्टी ऑफ इण्डिया’ काशीपुर द्वारा संचालित स्पोर्टस हॉस्टल में चयन के रूप में दिया। विवेक की पढ़ाई, खेल व रहने-खाने का पूरा खर्च उत्तराखण्ड सरकार ने वहन करने का जिम्मा लिया। विवेक के कोच एचएस थापा ने इसे विशेष उपलब्धि बताया कि विवेक की खेल प्रतिभा पर मुझे गर्व है, आने वाले समय में यह ताइक्वांडो में काफी ऊपर तक अपनी पहचान बनाएगा। विवेक ने 'शाहजी राजे स्पोर्टस कॉम्पलेक्स’ अंधेरी वेस्ट मुम्बई में सन् 2010-2011 में 56वें नेशनल स्कूल ताईक्वान्डो चैम्पियनशिप कांस्य पदक जीतकर राष्ट्रीय स्तर पर जनपद शाहजहांपुर का नाम रोशन किया। विवेक के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से वह अपने भविष्य के प्रति काफी चिंतित है।

रिपोर्टर - रमेश चन्द्र गुप्ता

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top