डीएम ने जिले को स्वच्छ बनाने के लिए गाँवों से शुरू की पहल

डीएम ने जिले को स्वच्छ बनाने के लिए गाँवों से शुरू की पहलगाँव कनेक्शन

कन्नौज। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी सांसद डिम्पल यादव के संसदीय क्षेत्र वाले वीवीआईपी जिले को क्लीन व ग्रीन बनाने का अभियान डीएम ने छेड़ दिया है। यह अभियान सूबे के फिरोजाबाद के बाद कन्नौज में चला है। मकसद केवल जनपद को स्वच्छ बनाना है। जिले की मुखिया के नेतृत्व में करीब 80 लोगों की टीम गठित की गई है। जो जमीनी स्तर से जुड़े हैं और लोगों में जागरुकता लाएंगे। 

तिर्वा के राजकीय मेडिकल कॉलेज के पीआरए भवन में 23 दिसम्बर 15 को पांच दिवसीय स्वच्छ भारत ग्रामीण योजना का प्रशिक्षण समाप्त हुआ। इसमें आठों ब्लॉकों के बीडीओ, एडीओ पंचायत, ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सेल्फ हेल्प ग्रुप के सदस्य समेत 80 लोगों ने प्रतिभाग किया। कार्यशाला में बताया गया कि अभी भी कई गाँवों में शौचालय नहीं हैं। जिन गाँव में हैं भी वहां उनका पूरी तरह से प्रयोग नहीं हो रहा है। अब भी ग्रामीण इलाकों में लोग खुले में शौच को जा रहे हैं। इससे गंदगी भी फैल रही है। साथ ही कई तरह की बीमारियां भी। इनसे मुक्त रहने के लिए यह अभियान चला। इसमें डीएम अनुज कुमार झा के अलावा वर्ल्ड बैंक एवं फीड बैक फाउंडेशन के सहयोग से जिला स्वच्छता समिति कन्नौज के माध्यम से कार्यशाला में प्रशिक्षण तो दिया गया, साथ ही ग्रामीणों को भी जागरुकता में सहयोग करने की बात कही गई। यहां प्रशिक्षण लेने वाले सभी लोग पूरे जिले में शौचालय का प्रयोग करने का अभियान चलाएंगे। इसके लिए वह ग्रामीणों से मिलेंगे। उनको शौचालय बनवाने के अलावा अन्य तरह से साफ-सफाई रखने को कहेंगे। 

सुबह पांच बजे गाँव में पहुंचे डीएम

कोई भी जनता से जुड़ा अभियान रहा हो, इसको सार्थक करने में डीएम की मेहनत रंग लाई है। पहले चरण में प्रशिक्षण के दौरान चयनित किए गए सांसद डिम्पल यादव के गोद लिए गए गाँव सैयदपुर सकरी के अलावा नुनारी, सौंसरी, नौरंगपुर नगरिया, सिंहनापुर, सिकरोरी को चुना गया है। डीएम ने अभियान को सार्थक करने के लिए खुद भी कड़ी मेहनत करनी शुरू कर दी है। वह नुनारी में सुबह पांच बजे पहुंचे। ग्रामीणों से रूबरू हुए। जो ग्रामीण खुले में शौच करके आ रहे थे, उनसे बात की। उनको शौचालय के प्रयोग के फायदे बताए। 

शौचालय निर्माण के लिए खुद चलाया फावड़ा

गाँव वालों को प्रेरित कर डीएम ने खुद नुनारी में फावड़ा चलाया। शौचालय निर्माण के लिए नींव खोदकर अभियान को सफल बनाने की शुरुआत की। इसके अलावा सीडीओ उदयराज यादव, सीएमओ डॉ. पीएन वाजपेयी, डीपीआरओ जेके केसरवानी ने भी विभागीय योजनाओं के बारे में बताया। सफाई रखने के फायदे भी ग्रामीणों को समझाए। 

20 जनवरी तक खुले में शौच से मुक्त होंगे कई गाँव

नुनारी में जब ग्रामीणों से बात कर डीएम ने अभियान की शुरुआत की तो गाँव वालों ने पूरा सहयोग करने को कहा। साथ ही 20 जनवरी तक खुले में शौच से मुक्त करने को कहा। इसके अलावा अन्य गाँव में भी इसी तरह अभियान को जोरशोर से चलाने के लिए कहा गया। 

क्या कहते हैं डीएम

कन्नौज के डीएम अनुज कुमार झा ने बताया कि यह अभियान उत्तर प्रदेश में फिरोजाबाद में ही अब तक चला है। अब इसकी शुरुआत कन्नौज से हुई है। अभियान को सफल बनाने के लिए आम जनता का भी सहयोग जरूरी है। पहल अच्छी है इसलिए लोगों को इसमें सहयोग करना चाहिए। इसके अलावा शौचालय के लिए कई योजनाएं भी चल रही हैं, उनका लाभ लेकर ग्रामीण शौचालय बनवाएं ही नहीं उनका उपयोग भी करें। 

क्या बोले जिम्मेदार

कन्नौज ज़िले के डीपीआरओ जेके केसरवानी ने कहा कि उनके विभाग के अलावा अब शौचालय निर्माण में मनरेगा का भी अंश लगता है। प्रशिक्षण लेने वाले सभी 80 लोग अब जिले को साफ-सुथरा बनाने के लिए बड़ी पहल शुरू करेंगे। लोगों को शौचालय का उपयोग करने के लिए जागरुकता अभियान भी चलेगा। डीएम के नेतृत्व में चलने वाले अभियान को लोग सफल बनाएं। 

रिपोर्टर - विजय कुमार मिश्र।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top