डिम्पल यादव के क्षेत्र में 'अपनों' से जूझती सपा

डिम्पल यादव के क्षेत्र में अपनों से जूझती सपा

कन्नौज। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी सांसद डिम्पल यादव के संसदीय क्षेत्र में समाजवादी पार्टी 'अपनों' से जूझ रही है। पार्टी हाईकमान की ओर से अधिकृत प्रत्याशी घोषित नहीं होने से जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव में पार्टी को अपने ही मात देने को तैयार हो चुके हैं। एक-एक वार्ड से कई-कई सपा कार्यकर्ता व पदाधिकारी चुनावी ताल ठोंक चुके हैं।

अंतिम व चौथे चरण में होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर इस समय प्रचार-प्रसार जोर-शोर से हो रहा है। वीवीआईपी जिले की ख्याति प्राप्त कर चुके कन्नौज में अब तिर्वां तहसील क्षेत्र के उमर्दा व हसेरन ब्लॉक क्षेत्रों के आठ जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव मतदान 29 अक्टूबर को होना है। वार्ड नंबर 21 से 28 तक में कई दिग्गज व उनके परिजन अपना-अपना भाग्य आजमाने मतदाताओं के बीच घूम रहे हैं।

सबसे पहले वार्ड 21 की बात करते हैं। यहां का चुनाव इस समय खूब सुर्खियों में इसलिए है कि माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री विजय बहादुर पाल की पुत्रवधू पूजा वर्मा को जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव में उतारा जा चुका है। उनके लिए यह पहला चुनाव होगा। इसी वार्ड से राज्यमंत्री के धुर-विरोधी कहे जाने वाले हसेरन ब्लॉक प्रमुख दिगंबर सिंह यादव की पत्नी व मौजूदा जिला पंचायत सदस्य उर्मिला यादव भी आमने-सामने हैं। दोनों नेताओं की पकड़ हाईकमान से अच्छी है। पार्टी हाईकमान की ओर से अधिकृत प्रत्याशी घोषित न करने पर कई पार्टी के कार्यकर्ता अपना दमखम आजमा रहे हैं। ऐसे प्रत्याशी अपनों के लिए ही मुसीबत बन गए हैं। उनका मानना है कि वोट तो अपना ही कटेगा। इसका विरोधी फायदा उठा सकते हैं।

इसी तरह वार्ड 23 से सपा नेता पूर्व जिला पंचायत सदस्य व निवर्तमान में जिला पंचायत सदस्य रश्मि यादव के पति श्याम सिंह यादव चुनाव अखाड़े में हैं। उनके सामने सपा के ही विधि प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष रहे सुधीर सिंह यादव ताल ठोक रहे हैं। बागी होने की वजह से कई सालों पहले उनको पार्टी से निष्कासित भी किया जा चुका है, लेकिन फिलहाल उनकी गिनती सपा में हैं।

वही वार्ड 24 में सबसे अधिक घमासान है। यहां से सपा नेता व पूर्व प्रधान आफाक अहमद, सपा के युवा नेता गुलामुद्दीन, सपा के अवधेश, सांसद डिम्पल की खास कही जाने वाली ज्योति सिंह, निवर्तमान प्रधान व सपा नेता मनोज सविता व सपा से निष्कासित हो चुके छेदीलाल शाक्य भी मैदान है। सभी एक-दूसरे को मात देने के लिए चुनाव प्रचार में तेजी से लगे हैं। वार्ड 26 से सपा के सुरजीत यादव की पत्नी अनीता देवी व सलोवा जिलाध्यक्ष इंद्रेश यादव की पत्नी प्रगति यादव मैदान में हैं। अन्य वार्डों का भी यही हाल है। कुल 191 प्रत्याशी चौथे चरण में मैदान में हैं। मैदान में कई दिग्गज भी हैं। चुनाव को उन्होंने प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया है। सभी जीत के दावे कर रहे हैं। उनके दावों को मतदाता कितना सफल बनाएंगे यह एक नवम्बर को मतगणना के दौरान ही पता चल सकेगा। 

सबसे अधिक उम्मीदवार वार्ड 22 से

जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव के लिए वार्ड 22 से सबसे अधिक प्रत्याशी 37 चुनाव मैदान में हैं। इसके अलावा वार्ड 21 से 17 प्रत्याशी, वार्ड 23 से 22 प्रत्याशी, वार्ड 24 से 30, वार्ड 25 से 18, वार्ड 26 से 21, वार्ड 27 से 33 और वार्ड 28 से 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

रिपोर्टर - विजय कुमार मिश्र

                                            

                                            

Tags:    India 
Share it
Top