दुनिया का सबसे जानवेला गृहयुद्ध झेलने वाले देश कोलंबिया के राष्ट्रपति को शांति को नोबल 

दुनिया का सबसे जानवेला गृहयुद्ध झेलने वाले देश कोलंबिया के राष्ट्रपति को शांति को नोबल कोलंबिया के राष्ट्रपति को शांति का नोबल

नार्वे। कोलंबिया के राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सांतोस को शांति का नोबल पुरस्कार दिया गया है। नोबल समिति ने उन्हें अपने देश में 50 साल से चल रहे गृह युद्ध खत्म करने की कोशिशें के लिए सम्मानित किया। नार्वे की राजधानी ओस्लो में इस पुरस्कार की घोषणा की गई।

दक्षिण अमेरिका के इस देश में इसी हफ्ते 4 अक्टूबर को जनमत संग्रह में लोगों ने सरकार और वामपंथी विद्रोहियों के बीच हुए समझौते को खारिज कर दिया था। लोगों के फैसले के बाद भी राष्ट्रपति मैनुअल सांतोष के कहा था कि वो इस विद्रोही संगठन के साथ संघर्ष विराम को जारी रखेंगे। हालांकि सरकार के विरोधी इस समझौते के मौजूदा मसौदे में सुधार पर जोर दे रहे हैं।

नोबल प्राइज।

शांति का नोबल पाने वाले राष्ट्रपति खुआन सांतोष और फार्क नेता करीब चार साल से लगातार वार्ताओं के बाद इस समझौते तक पहुंचे थे। कोलंबिया का गृहयुद्ध दुनिया के सबसे जानलेवा संघर्षों में गिना जाता है। 1964 से शुरु हुई इस लड़ाई के आखिर तक पहुंचते-पहुंचते करीब सवा दो लाख लोगों की जान जा चुकी है। और 80 लाख के करीब लोग विस्थापित हुए हैं।


Share it
Top