सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दुनिया में सेना के पराक्रम की चर्चा, पहले ये काम इजराइल करता था: पीएम

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दुनिया में सेना के पराक्रम की चर्चा, पहले ये काम इजराइल करता था: पीएमप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ।

हिमाचल प्रदेश। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी मंगलवार को अपने पहले हिमाचल प्रदेश के दौरे पर मंडी पहुंचे। पीएम मोदी ने कहा कि आजकल पूरे देश में हमारी सेना के पराक्रम की चर्चा हो रही है। पहले हम कभी इजराइल ने ऐसा किया सुनते थे लेकिन देश ने देखा कि भारत की सेना भी किसी से कम नहीं है। जितना गौरव आज जो सेना में तैनात हैं, उनके लिए करते हैं, उतना ही गौरव उन सेनानिवृत्त सैनिकों का भी है क्योंकि वे इस महान परंपरा को कायम रखते हुए नई पीढ़ी को ताकत देकर आए हैं। इसलिए आज जो तैनात हैं उनको सौ सौ सलाम है, तो रिटायर होकर आए पूर्व सैनिकों को भी सौ-सौ सलाम है।

हिमाचल प्रदेश के मंडी में पीएम ने तीन पनबिजली परियोजना का उद्घाटन किया। छोटी काशी यानी मंडी में मोदी ने कहा कि इस देव भूमि में मुझे आपके दर्शन करने का मौका मिला और आप यहां आए, इसके लिए मैं आपका आभारी हूं। पीएम मोदी ने कहा कि मैं काशी से लोकसभा का सांसद हूं और छोटी काशी में सर झुकाने का अवसर मिला, यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है।

उन्होंने कहा कि मैंने यहां आने में देर कर दी। मुझे लग रहा था कि आप नाराज होंगे लेकिन भीड़ देखकर ऐसा नहीं लग रहा कि आप नाराज हैं। हिमाचल के लोगों का दिल हिमालय जैसा बड़ा है।

हमने वन रैंक पेंशन का लागू करवाया


पीएम मोदी ने कहा कि हमने 40 साल से लटके एक रैंक एक पेंशन को लागू करवाया। इसमें सेना की मदद हमने ली। हमने सेना के जवानों से इस पर चर्चा की और हमने कहा कि हम एक बार में नहीं दे पायेंगे। इस पर निर्णय हुआ कि इसका भुगतान चार किस्तों में किया जाएगा। हम एक किस्त दे भी चुके हैं। इस मामले को लेकर कई वर्षों तक राजनीति हुई और वे कुछ फंड इसके लिए लाए भी लेकिन उन्हें जानकारी नहीं थी कि इसको लागू करने से कितने का आर्थिक बोझ आएगा. लेकिन हमने इसका सामाधान निकाल लिया।

मोदी ने कहा कि हिमाचल से अटल जी का बहुत गहरा रिश्ता था


विपक्ष पर साधा निशाना

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे मुख्‍यमंत्रियों ने हिमाचल प्रदेश में काम किया। एक मुख्‍यमंत्री की पहचान जल के कारण हुई तो दूसरे की पहचान सड़क परियोजना के कारण हुई लेकिन और भी यहां दूसरी पार्टियों के मुख्‍यमंत्री हुए जिनकी चर्चा यहां भ्रष्‍टाचार के कारण होती है। पीएम मोदी ने कहा कि हम अटकी हुई परियोजनाओं को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं।

इनका किया लोकार्पण

मंडी में पीएम मोदी ने 800 मेगावाट के कोल बांध, 520 मेगावाट के पार्वती तृतीय चरण और 412 मेगावाट की रामपुर परियोजना का लोकार्पण किया। मंडी में होने वाली रैली को भाजपा ने राजनीतिक परिवर्तन की संज्ञा दी है. मोदी के दौरे से प्रदेश में राजनीतिक समीकरण बदलने की उम्मीद है।

Share it
Share it
Share it
Top