आज का इतिहास : एपल ने आज ही के दिन बाजार में उतारा था आईपॉड

आज का इतिहास : एपल ने आज ही के दिन बाजार में उतारा था आईपॉड

नई दिल्ली। 1976 में स्टीव जॉब्स द्वारा स्थापित की गई एपल कंपनी को संचार क्रांति के अगुवा के तौर पर माना जाता है। कप्यूटर, मोबाइल, आईपैड सहित ढेरों उत्पाद तैयार करने वाली एपल के उत्पाद गुणवत्ता में बाकी सबसे बेहतर माने जाते हैं। एपल ने 2001 में 23 अक्टूबर के दिन आईपोड को बाजार में पेश किया। छोटे से आईपोड ने हजारों गीतों को सुनने वाले की जेब में पहुंचाने का काम किया और अगले कुछ वर्ष तक यह दुनिया का सबसे सफल और क्रांतिकारी उत्पाद माना गया।








आज की तारीख में इतिहास में दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:-

1850 : महिलाओं के अधिकारों को लेकर अमेरिका में पहली बार राष्ट्रीय महिला अधिकार सम्मेलन शुरू हुआ।

1940 : फुटबाल के जादूगर कहे जाने वाले पेले का जन्म। कहने को तो पेले का नाम दुनिया का बच्चा बच्चा जानता है, लेकिन यह बहुत कम लोगों को मालूम है कि उनका पूरा नाम एडसन अरांतस डो नासिमेंतो है। ब्राजील का यह बेहतरीन खिलाड़ी अपने देश के लिए तीन बार विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा रहा।







1947: गेर्टी कोरी और उनके पति कार्ल कोरी को चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

1956 : बुडापेस्ट में व्यापक प्रदर्शन के साथ हंगरी की क्रांति का सूत्रपात। सोवियत शासन के खात्मे की मांग को लेकर हंगरी के लाखों लोग सड़कों पर उतर आए।

1956 : विश्व शांति के लिए परमाणु ऊर्जा का योगदान बढ़ाने के उद्देश्य से अन्तरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी की स्थापना।

1983 : आत्मघाती हमलावरों ने बेरूत में अमेरिका और फ्रांस की सेना के बैरेकों पर विस्फोट से भरा ट्रक चढ़ा दिया, जिससे अमेरिका के 241 और फ्रांस के 56 सैन्यर्किमयों की मौत हो गई।

1998 : इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और फलस्तीनी नेता यासर अराफात ने ''धरा के लिए शांति'' संधि पर हस्ताक्षर किए।

2001 : एपल ने आईपोड को बाजार में पेश किया। नयी शताब्दी के शुरूआती वर्षों में इस उत्पाद ने संगीत के क्षेत्र में क्रांति लाने का काम किया।

2002 : मास्को में चेचेन बागियों ने एक सांस्कृतिक केन्द्र पर हमला किया और थिएटर देखने आए तकरीबन 700 लोगों को बंधक बना लिया।

2004: जापान में भूकंप से 85 हजार लोग बेघर ।

2011: टर्की में भीषण भूकंप से 582 लोगों की मौत।

ये भी पढ़ें: जानिए चीनी बनाने वाले गन्ने का इतिहास, इंग्लैड की महारानी और एक कटोरी चीनी का कनेक्शन

Share it
Top