आधा हिंदुस्तान बाढ़ की चपेट में, अबतक 140 लोगों की मौत

आधा हिंदुस्तान बाढ़ की चपेट में, अबतक 140 लोगों की मौतउत्तर प्रदेश से असम तक पानी अपनी विनाश लीला दिखा रहा है

नई दिल्ली। इस वर्ष मानसून अच्छा होने के कारण भारत के कई राज्यों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। आधा हिंदुस्तान बाढ़ की चपेट में है। उत्तर प्रदेश से असम तक पानी अपनी विनाश लीला दिखा रहा है। देश के उत्तर पूर्वी राज्य असम में बाढ़ की वजह से अब तक 59 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि नॉर्थ ईस्ट के सभी राज्यों को मिला दें तो अब तक कम से कम 80 लोग बाढ़ की वजह से जान गंवा चुके हैं।

उत्तर प्रदेश में घाघरा नदी का कहर बरकरार

यूपी के बहराइच, बाराबंकी, गोंडा, फैजाबाद, अयोध्या, बलिया जिले के लोग घाघरा नदी के पानी से खौफ में जीने को मजबूर है। गोंडा जिले में बांध टूटने से नदी का पानी झोपड़ियों तक आ पहुंचा है। जो बांध टूटा है उस पर बीते तीन साल में 100 करोड़ रुपये खर्च किए जाने का दावा हुआ था, लेकिन वो दावा भी पानी में बह गया। बांध कटने की वजह से कई गांव पानी में घिर गए हैं। लोगों को नाव से चलकर दूसरी जगह जाना पड़ रहा है। वहीं, नकहरा गाँव के लोगों ने ऊंची जगहों पर शरण ले रखा है। ग्रामीण सड़क के किनारे तिरपाल के नीचे रहने को मजबूर हैं।

मध्य प्रदेश में हो रही है जोरदार बारिश

मध्यप्रदेश में रीवा, सतना, कटनी में बाढ़ से हालात बने हुए हैं। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों में रीवा, सतना, कटनी, सागर, दमोह, छतरपुर, उमरिया, सागर, वीदिशा में भारी बारिश की संभावना है। मध्य़ प्रदेश के अगर मालवा जिले में मानसून की बारिश से कंठाल नदी उफान पर है। नदी का पानी पुलिया के ऊपर से गुजर रहा है। इसे पार करने की कोशिश कर रही एक गाय नदी के तेज बहाव में बह गई। नदी में कुछ दूर बहने के बाद गाय को किनारा मिला लेकिन दोबारा वो नदी में बह गई। यहां लोग अपनी जान जोखिम में डालकर पुलिया को पार करने की कोशिश कर रहे हैं।

असम में 17 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित

देश के उत्तर पूर्वी राज्य असम में पानी लोगों के लिए परेशानी बन गई है। असम में 33 में से 24 ज़िले बाढ़ की चपेट में हैं। गोलाघाट के कई रिहायशी इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है। असम में बाढ़ की वजह से 59 लोगों की जान चली गई है और 17 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

काजीरंगा पार्क में 53 जानवरों की मौत

असम के काजीरंगा नेशनल पार्क में 77 फीसदी हिस्सा पानी में डूब गया है, जिसकी वजह से यहां 53 जानवरों की मौत हो चुकी है। जानवरों ने अपनी जान बचाने के लिए छोटे-छोटे टापूओं पर शरण ले रखी है। काजीरंगा पार्क में डॉक्टरों की टीम बीमार जानवरों के इलाज में जुटी हुई है।

अरुणाचल प्रदेश में हो रहा भूस्खलन

बारिश और बाढ़ की वजह से आधा हिंदूस्तान पानी पानी है। उत्तर भारत से लेकर उत्तर पूर्व तक बाढ़ ने कहर मचाया है। अरुणाचल प्रदेश में चट्टान खिसकने से 14 लोगों की मौत हो गयी। बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही है।

राहत और बचाव के लिए देश में लगाई गईं 39 टीमें

एनडीआरएफ अब तक देश के कई राज्यों में आई बाढ़ से अब तक 1300 पीड़ित व्यक्तियों को रेस्क्यू कर चुकी है। मॉनसून को लेकर देश भर में 39 टीम लगाई गई है जो राहत और बचाव का कार्य कर रही है। मौसम विभाग के मुताबिक आज साउथवेस्ट मध्य प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में बहुत भारी से भारी बारिश हो सकती है।

भारी बारिश के आसार

गुजरात रीजन और ईस्ट राजस्थान के इक्का दुक्का इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। इसके साथ ही ईस्ट मध्य प्रदेश, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, वेस्ट राजस्थान, गैंगटिक वेस्ट बंगाल, ओडिशा और कोस्टल कर्नाटक में बहुत भारी बारिश हो सकती है।

संबंधित खबर:- बाढ़ क्षेत्रों में लापरवाही हुई तो अधिकारियों पर होगी कार्रवाई - धर्मपाल सिंह

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top