आर्मी कैंटीन में बैन, लेकिन बाज़ार में बिक रहा पतंजलि आंवला जूस

Basant KumarBasant Kumar   27 April 2017 7:29 PM GMT

आर्मी कैंटीन में बैन, लेकिन बाज़ार में बिक रहा पतंजलि  आंवला जूसपतंजलि आयुर्वेद के आंवला रस का कोलकाता पब्लिक हेल्थ लैबोट्ररी में परीक्षण किया गया जहां परीक्षण में यह विफल रहा (फोटो: गाँव कनेक्शन)

लखनऊ। योग गुरु रामदेव के पतंजलि का आंवला जूस प्रयोगशाला की जांच पर खरा नहीं उतरा जिसके बाद आर्मी कैंटीन सीएसडी ने इसकी बिक्री पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। कैंटीन में भले ही इस पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया हो लेकिन बाज़ार में यह अभी बिक रहा है।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, पतंजलि आयुर्वेद के आंवला रस का कोलकाता पब्लिक हेल्थ लैबोट्ररी में परीक्षण किया गया जहां परीक्षण में यह विफल रहा, जिसके बाद कंपनी को कारण बताओ नोटिस भेजते हुए इसका स्पष्टीकरण मांगा गया है।

हमारे पास इसको लेकर अभी कोई शिकायत नहीं आई है। अगर रक्षा मंत्रालय ने प्रतिबन्ध लगाया है तो हमलोग भी इसकी जांच करेंगे और अगर कोई कमी पाई जाती है तो करवाई होगी।
संजय सिंह, मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी, लखनऊ

कोलकाता की सेंट्रल फूड लैबोट्ररी ने आंवला जूस को मानदंड के अनुरूप नहीं पाया जिसके बाद सीएसडी ने तीन अप्रैल से स्टोर पर पंतजलि जूस की बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी। इसके साथ ही स्टोर पर बिक रहे सभी मौजूद जूस को वापस करने का भी आदेश जारी कर दिया है।

भले ही रक्षा मंत्रालय ने आंवला जूस पर प्रतिबन्ध लगा दिया हो लेकिन पतंजलि स्टोर के साथ-साथ छोटे-छोटे दवाइयों के दुकानों पर अभी भी आंवला जूस बिक रहा है। हजरतगंज के न्यू जनपथ में स्थित पतंजलि स्टोर पर आंवला जूस उपलब्ध है। दुकान में काम करने वाले बताते हैं कि आर्मी कैंटीन ने भले ही प्रतिबन्ध लगा दिया हो, लेकिन हमें नहीं बेचने का कोई निर्देश नहीं आया है। जब तक निर्देश नहीं आता हम बेंच रहे है।

रामदेव

हजरतगंज के लगभग हर दवा की दुकानों में आंवला जूस बिक रहा है। दुकानदार अपना नाम न छापने के शर्त पर बताया, "हमें कोई निर्देश नहीं आया है तो हम क्यों बेचना बंद कर दे। खबर में भी यह नहीं बताया गया है था कि आखिर जूस में कमी क्या है। लोग अब भी आंवला जूस खरीदने आ रहे हैं।"

आंवला जूस को उसी लैबोट्ररी ने मानदंड पर खरा नहीं बताया है, जिसने दो साल पहले मैगी नूडल्स में गड़बड़ी की बात कही थी। इसी लैब ने बताया था कि नेस्ले मैगी नुडल्स के सैंपल्स में लेड की मात्रा आवश्यकता से ज्यादा है। इसके बाद मैगी पर देश भर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था।

लखनऊ मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय सिंह ने गाँव कनेक्शन से बातचीत करते हुए बताया कि हमारे पास इसको लेकर अभी कोई शिकायत नहीं आई है। अगर रक्षा मंत्रालय ने प्रतिबन्ध लगाया है तो हमलोग भी इसकी जांच करेंगे और अगर कोई कमी पाई जाती है तो करवाई होगी।

जबकि इस पर पतंजलि ने दावा किया था कि आंवला रस पूरी तरह से सेवन योग्य है। सभी लोग इसका सेवन कर सकते है यह एक औषधीय उत्पाद है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top