बाराबंकी: जहरीली शराब से मौतों के बाद चौकीदार की मुहिम, गांव में डुगडुगी बजा दे रहा यह संदेश

Virendra SinghVirendra Singh   1 Jun 2019 12:01 PM GMT

बाराबंकी। ''होशियार...होशियार...होशियार, दारू हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। दारू पीना और बनाना दोनों छोड़ें, क्योंकि दारू हमारे फेफड़ों को बर्बाद कर देती है और हमारे बच्चों के भविष्य को नाश कर देती है।'' उत्‍तर प्रदेश के बाराबंकी जिले के कई गांव में इन दिनों यह आवाज गूंज रही है।

जहरीली शराब से 18 लोगों की मौत के बाद से ही बाराबंकी के कई गांव दहशत में हैं। इस बीच कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लोगों को जागरूक करने में लगे हैं। इन्‍हीं में से एक हैं सरोज। सरोज चौकीदार हैं और बाराबंकी की घटना के बाद से ही गांव-गांव में घूम कर लोगों को दारू न पीने के प्रति जागरूक कर रहे हैं।

सरोज बताते हैं, ''इस घटना के बाद से मुझे अजीब लगा। मैंने सोचा कि लोगों को दारू के खिलाफ जागरूक करना चाहिए। ऐसे में मैं गांव-गांव जाकर और डुगडुगी बजाकर लोगों को जागरूक कर रहा हूं।'' सरोज बताते हैं, ''इसके लिए मुझे कहीं से सहायता नहीं मिल रही। यह तो सेवा का काम है। अब धीरे-धीरे गांव के लोग भी हमारे साथ आने लगे हैं।'' सरोज अपने साथ एक डुगडुगी बजाने वाले को भी रखते हैं, जिसे रोज का 50 रुपए देते हैं।

सरोज ने अब तक अकम्‍बा, बसारी, बिसुनपुर, शंकरपुर, टेकुआ, गंगापुर, गइसापुर, टांड, जगतपुर जैसे कई गांव में घूमकर लोगों को जागरूक करने का काम किया है। इस काम में उनके साथ कई लोग शामिल भी हो गए हैं। बाराबंकी के ही सूरतगंज ब्लॉक के अंकम्‍बा निवासी बीए की छात्रा जूली वर्मा कहती हैं कि हम अपने गांव में घर-घर जाकर दारू से होने वाले नुकसान के बारे में बताते हैं और लोगों से दारू ना पीने की अपील करते हैं। हम लोगों को समझाते हैं कि दारू हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

सरोज के साथ ही राजाराम वर्मा (50 साल) भी लोगों को जागरूक करने में लगे हैं। वो कहते हैं, हमारी पहल का असर भी दिखने लगा है। कई ऐसे लोग हैं जो रोज दारू पिया करते थे वो लोग भी हमारे साथ आकर लोगों को समझाने में लगे हैं।

इस अभियान से प्ररित होकर अकम्‍बा गांव के रहने वाले लल्लू राम (55 साल) कहते हैं कि ''अब हमारे क्षेत्र में कोई भी दारू बनाता या पीता मिलेगा तो हम उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर देंगे। हमारी कोशिश है कि हम लोगों को समझा-बुझाकर दारू के दलदल से बाहर निकालें।

क्‍या है मामला?

बाराबंकी जिले के रामनगर क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से 18 लोगों की मौत हो गई तथा 44 लोग अभी भी केजीएमसी लखनऊ में भर्ती हैं। बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने बुधवार शाम एक बयान में कहा कि जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 18 पहुंच गयी है।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top