Top

पीएम के घर के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसान हिरासत में 

पीएम के घर के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसान हिरासत में प्रधानमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसान हिरासत में।

नई दिल्ली (भाषा)। इस साल की शुरुआत में विरोध प्रदर्शन के अपने विशिष्ट तरीकों से चर्चा में आए तमिलनाडु के किसान शनिवार को कर्जमाफी समेत अपनी मांग को लेकर एक बार फिर राजधानी पहुंचे हैं। हालांकि लोक कल्याण मार्ग पर प्रधानमंत्री आवास के पास प्रदर्शन करने की कोशिश करने पर करीब 70 किसानों को हिरासत में ले लिया गया। पकड़े गए किसानों को बाद में संसद मार्ग थाने ले जाया गया।

किसानों के नेता पी अय्याकन्नू ने कहा, ''हमारी मांगें पूरी नहीं की गयी हैं, जिसका तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी और केंद्रीय मंत्री पी राधाकृष्णन ने वादा किया था। इसलिए हमने और 100 दिनों के लिए अपना विरोध प्रदर्शन बहाल करने का फैसला किया है।''

संबंधित खबर : तमिलनाडु में सूखे के कारण सैकड़ों गायों की मौत !

बता दें कि दक्षिणी राज्य के किसान केंद्र से 40,000 करोड़ रुपये का सूखा राहत पैकज, कृषि ऋण माफी और कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन की मांग कर रहे हैं। वे 'किसान मुक्ति यात्रा ' में हिस्सा ले रहे अपने समकक्षों के 18 जुलाई को यहां जंतर मंतर पहुंचने के बाद अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन में शामिल हो जाएंगे। अय्याकन्नू के नेतृत्व में किसानों के समूह ने मार्च में नये नये तरीकों से विरोध प्रदर्शन किया था। इसमें प्रधानमंत्री के घर के बाहर हाथ में मानव खोपड़ियां लेकर प्रदर्शन करना, राष्ट्रपति भवन के पास कपड़े उतारना और मूत्र पीना शामिल है।

किसानों की कर्जमाफी के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी

तमिलनाडु के किसानों कि कर्जमाफी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.