राजस्थान के कुछ जिलों में गिरे ओले, किसानों के लिए शुक्रवार का दिन भी पड़ सकता है भारी

ओलों की बरसात से चने, सरसो व मेथी की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है, कई वाहनों के शीशे भी ओले गिरने से टूट गये

राजस्थान के कुछ जिलों में गिरे ओले, किसानों के लिए शुक्रवार का दिन भी पड़ सकता है भारी

जयपुर। राजस्थान में आज मौसम का मिजाज अचानक से बिगड़ गया। जोरदार बारिश के साथ कुछ जगहों पर ओले भी गिरे। बारिश ओलों ने किसानों की परेशानी बढ़ा दी है। तेज बारिश के साथ ओले गिरने से किसानों में हाहाकार मच गया है। ओलों की बरसात से चने, सरसो व मेथी की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। कई वाहनों के शीशे भी ओले गिरने से टूट गये।

ये भी पढ़ें: मौसम की मार से हजारों एकड़ फसल बर्बाद: किसान बोले, 'बादलों को देखकर लगता है डर'

जयपुर के आस-पास के जिलों में गुरुवार सुबह से ही कई हिस्से बादलों से घिरे रहे। इस दौरान श्रीगंगानगर, झुंझुनू में कुछ जगह बर हल्की बारिश भी रिकॉर्ड की गई। दिन में करीब 3 बजे जयपुर में भी बारिश हुई। जिसके साथ कई जगह ओले भी गिरे। मौसम विभाग की मानें तो अगले 24 घंटों में राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश के साथ तेज हवाएं चलने की संभावना है। प्रदेश में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो सकता है।

ये भी पढ़ें: यूपी में किसानों की मेहनत पर ओलों की बारिश, गेहूं समेत कई फसलें बर्बाद

हेमेरा निवासी किसान तोलाराम खाती ने बताया, " गुरुवार दोपहर अचानक बेमौसम बदला। तेज बारिश के साथ ओले गिरने लगे। देखते-देखते ओलों की चादर बिछ गई। ओलावृष्टि से खेतों में पकाव पर खड़ी चने सरसो व मेथी की फसलों को नुकसान हुआ है।"

मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटे में पूर्वी और पश्चिमी इलाकों में सर्द हवाएं चलने के साथ बारिश की संभावना जताई है। इसके बाद मौसम साफ होगा लेकिन दो दिन बाद तापमान में 2 से 3 डिग्री की गिरावट होगी। गुरूवार को श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, बीकानेर, जैसलमेर, सीकर, झुंझुनूं, अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में बारिश के आसार है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तरी राज्यों में हो रही बर्फबारी के कारण इस बार मार्च के पहले सप्ताह में उत्तर पूर्व से आ रही सर्द हवा और बेमौसम बारिश के कारण पारे में बढ़ोत्तरी हुई है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली एनसीआर में बारिश के साथ पड़े ओले, पहाड़ों पर बर्फबारी से गिरा तापमान


Share it
Top