गलत रिटर्न भरने वाले वेतनभोगी करदाताओं पर रहेगी आयकर विभाग की नजर  

गलत रिटर्न भरने वाले वेतनभोगी करदाताओं पर रहेगी आयकर विभाग की नजर  आयकर रिटर्न।

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने वेतनभोगी कर्मचारियों को गलत आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करने के प्रति आगाह किया है। विभाग ने कहा है कि ऐसे करदाताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उनके नियोक्ताओं को भी इस संबंध में सूचित किया जाएगा।

विभाग ने ऐसे करदाताओं को अपनी रिटर्न में आय कम बताने या कटौती को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाने जैसे हथकंडे अपनाने के प्रति आगाह किया है। विभाग के बेंगलुरू स्थित केंद्रीय प्रसंस्करण केंद्र (सीपीसी) ने इस बारे में करदाताओं को परामर्श भी जारी किया है। इस श्रेणी के करदाताओं से कहा गया है कि गलत लाभ के लिए गलत कर सलाहकारों के चक्कर में नहीं पड़ें।

विभाग के अनुसार रिटर्न में आय कम दिखाना या कटौती बढ़ा-चढ़ा कर दिखाना विभिन्न धाराओं के तहत दंडनीय है और आयकर कानून की धाराओं के तहत अभियोजन किया जा सकता है। विभाग की जांच शाखा ने जनवरी में एक ऐसे गिरोह का खुलासा किया था, जो कर्मचारियों को फर्जी तरीके से कर रिफंड हासिल करने में मदद करता है। सीबीआई ने हाल ही में इस मामले में आपराधिक मामला दर्ज किया है।

वेतनभोगी करदाताओं के लिए कर दाखिल करने का सत्र हाल ही में शुरू हुआ है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने वेतनभोगी करदाताओं के लिए गए आईटीआर फार्म को हाल ही में अधिसूचित किया।

(एजेंसी)

ये भी पढ़ें- कठुआ गैंगरेप मामले में मीडिया घरानों ने हाई कोर्ट में मांगी माफी, देनी होगी मुआवजा राशि 

पीएम मोदी की विदेश यात्रा : पशुपालन, कृषि जैसे क्षेत्रों पर कई देश मिलकर करेंगे काम

Tags:    Income tax 
Share it
Share it
Share it
Top