बिहार पहुंचा मानसून, 48 घंटे में झमाझम बारिश के आसार

मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि अगले 24 से 48 घंटे तक तक बिहार में मानसून के पहुंचने की संभावना है।

बिहार पहुंचा मानसून, 48 घंटे में झमाझम बारिश के आसार

पटना। बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के कई हिस्सों में रविवार को हल्की बारिश के बाद सोमवार सुबह मौसम साफ है और तेज धूप निकली हुई है। राजधानी पटना का सोमवार को न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि अगले 24 से 48 घंटे तक तक बिहार में मानसून के पहुंचने की संभावना है। इस कारण अगले 24 घंटे के दौरान राज्य के कई स्थानों में बारिश होने के आसार हैं। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, बिहार के अन्य शहरों भागलपुर का सोमवार को न्यूनतम तापमान 25.3 डिग्री सेल्सियस, गया का 28.0 डिग्री और पूर्णिया का 25.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पटना का रविवार का अधिकतम पारा 34.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 28.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। सोमवार को पटना का अधिकतम तापमान 36.0 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने के आसार हैं।

इस बार किसानों पर मेहरबान रहेगा मानसून: स्काईमेट ने जारी किया मौसम पूर्वानुमान


साभार: इंटरनेट

मौसम विभाग के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मानसून सक्रिय हो गया है। अगले 48 घंटे के दौरान झमाझम बारिश की संभावना है। पटना, छपरा, मुजफ्फरपुर और मोतिहारी में सोमवार को बारिश हो सकती है, जबकि पूर्णिया, फारबिसगंज, सुपौल और भागलपुर के आसपास मंगलवार तक मानसून की वर्षा शुरू होगी। इस बीच रविवार को भी राजधानी में मौसम खुशनुमा रहा। रविवार को पटना सिटी, गायघाट, भिखना पहाड़ी, अशोक राजपथ, मुसल्लहपुर हाट और गांधी मैदान के आसपास के इलाकों में लगभग आधे घंटे तक बारिश हुई। कंकड़बाग व गंगा के किनारे के इलाकों में छिटपुट बारिश हुई। चिरैयाटाड़, बोरिंग रोड, स्टेशन, पाटलिपुत्र, बेली रोड, फुलवारीशरीफ आदि इलाकों में आकाश में बादल छाए रहे, मगर बूंदाबांदी ही हुई।बारिश से कई इलाकों में जल जमाव हो गया।

मानसून आख़िर क्या बला है, जिसका किसान और सरकार सब इंतज़ार करते हैं

साभार: इंटरनेट

इस साल जमकर होगी बारिश, मौसम विभाग ने दी जानकारी

मौसम विभाग ने अपने दूसरे चरण के दीर्घावधि पूर्वानुमान में यह संभावना जताई है। उसके अनुसार उत्तर-पश्चिम के राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में 100 फीसदी, मध्य भारत में 99 प्रतिशत, दक्षिण भारत में सामान्य से कुछ कम 95 प्रतिशत बारिश होने के आसार हैं। हालांकि पूर्व और उत्तर-पूर्व के राज्यों पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्वोत्तर में सामान्य से कुछ कम लगभग 93 प्रतिशत बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, देश में लगातार तीसरे साल मानसून सामान्य रहेगा। देशभर में जुलाई महीने में 101 फीसदी और अगस्त में 94 फीसदी बारिश हो सकती है। हालांकि इसमें 9 फीसदी की कमी या वृद्धि संभव है। विभाग के अनुसार, इस साल देश में दक्षिणपश्चिम मानसून मौसम (जून से सितंबर) सामान्य रहेगा। इस दौरान दीर्घावधि (लांग पीरियड एवरेज या एलपीए) में 96 से 104 फीसदी बारिश के आसार हैं। परिणामस्वरूप मानसून सीजन में पूरे देश में दीर्घावधि में औसतन 97 फीसदी बारिश की संभावना है।

साभार: एजेंसी

मानसून : ये हैं मौसम के पूर्वानुमान के देसी अलार्म, घटनाएं जो बताती हैं बारिश कैसी होगी ?

Share it
Top