भगवान राम पर प्रश्नचिह्न लगाने वालों के लिए करारा तमाचा है रामसेतु पर आई अमेरिकी रिपोर्ट : विहिप 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   13 Dec 2017 6:29 PM GMT

भगवान राम  पर  प्रश्नचिह्न लगाने वालों के  लिए करारा तमाचा है रामसेतु पर आई अमेरिकी रिपोर्ट  : विहिप विश्व हिंदू परिषद 

नई दिल्ली (भाषा)। रामसेतु के मानव निर्मित होने के अमेरिकी वैज्ञानिकों एवं एक चैनल के दावे का स्वागत करते हुए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने आज कहा कि भारत के इस गौरवशाली इतिहास को संजोया जाए और रामसेतु को राष्ट्रीय ऐतिहासिक धरोहर घोषित किया जाए।

विहिप के अंतरराष्ट्रीय संयुक्त महासचिव डा. सुरेन्द्र कुमार जैन ने एक बयान में कहा कि नासा का सैटेलाइट इस तथ्य की ओर पहले ही संकेत कर चुका था, इन वैज्ञानिक खोजों ने और स्पष्ट कर दिया है कि भगवान राम से जुड़ा रामसेतु भारत के गौरवशाली इतिहास का एक अटूट भाग हैं।

यह भी पढ़ें भारत से श्रीलंका को जोड़ने वाले राम सेतु को लेकर वैज्ञानिकों ने किया ये चौंकाने वाला दावा

डा. जैन ने कहा कि यह रिपोर्ट उन लोगों के मुंह पर करारा तमाचा है जो भगवान राम के अस्तित्व पर ही प्रश्न चिह्न लगाते थे और उनको काल्पनिक चरित्र मानते थे।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा कि राम को नकारने का एक षड्यंत्र रचा जा रहा है जो भारत को अपनी जड़ों से काटने का प्रयास है, दुर्भाग्य है कि आजादी के बाद कुछ राजनीतिज्ञ और कुछ इतिहासकार राम के अस्तित्व पर सवाल उठा रहे है। उन्होंने कहा कि विश्व हिंदू परिषद मांग करती है कि रामसेतु को राष्ट्रीय ऐतिहासिक धरोहर घोषित किया जाए।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top