Top

ओला-उबर को टक्कर देने आई नई कैब सर्विस, अब हाथ देकर भी कर सकेंगे सफर

ओला-उबर को टक्कर देने आई नई कैब सर्विस, अब हाथ देकर भी कर सकेंगे सफरप्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली (भाषा)। राजधानी दिल्ली में टैक्सी सेवा लेने वालों के लिए अच्छी खबर है। मोबाइल ऐप आधारित टैक्सी सेवा देना वाले ओला और उबर की कमीशन नीति से परेशान दिल्ली के कुछ टैक्सी चालकों ने ‘सेवा कैब' चालू किया है जिसमें बड़ी संख्या में टैक्सी चालक जुड़ रहे हैं।

सेवा कैब का किराया 5 रुपए किलोमीटर से शुरू होता है। इसकी खासियत यह है कि इसमें ऐप के जरिए बुक के साथ आप सेवा ड्राइवर को रास्ते में हाथ देकर भी यात्रा कर सकते हैं। इस स्टार्ट-अप ने अपने नेटवर्क पर ‘सर्ज प्राइसिंग' यानी मौका ताड़कर दाम बढ़ाने की नीति लागू नहीं करने का निर्णय किया है।

ये भी पढ़ें: पैरा एथलीट की बार-बार गुजारिश पर भी नहीं बदली गई सीट, ट्रेन की फर्श पर किया सफर

नौ चालकों की संचालन परिषद ‘चालक शक्ति' द्वारा संचालित यह सेवा एक मई से शुरू हो चुकी है और जुलाई के बीच में इसकी ऑफिशियल शुरुआत होगी। चालक शक्ति टैक्सी चालकों का संगठन है। सेवा कैब के को-फाउंडर और सामाजिक कार्यकर्ता राकेश अग्रवाल ने कहा, ‘‘चालक ओला और उबर की नीतियों से परेशान थे। विदेशों से वित्त पोषित दोनों कंपनियों ने शुरू में चालकों को ‘प्रोत्साहन' के रूप में प्रलोभन दिया लेकिन बाद में उनकी नीतियां बदल गई।

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के कृषि प्रगति मॉडल को पूरे देश में लागू करना चाहते हैं राधा मोहन सिंह

ये दोनों कंपनियां चालकों से हर बुकिंग का लगभग 27 प्रतिशत वसूल लेते हैं। इसमें 20 प्रतिशत कमीशन, 6 प्रतिशत सेवा कर और एक प्रतिशत स्रोत पर कर कटौती के रूप में लिया जाता है।' उन्होंने कहा, ‘इससे चालकों को अपनी कमाई का 27 प्रतिशत यानी करीब 15,000 रुपए से अधिक हर महीने उक्त कंपनियां को देना पड़ता है।'

अग्रवाल ने कहा कि अबतक करीब 2,000 चालक इससे जुड़े हैं और 10 जुलाई तक इसके 3,000 तक पहुंच जाने का अनुमान है। उल्लेखनीय है कि ओला और उबर से जुड़े चालकों ने कमीशन में कमी किए जाने की मांग और कंपनियों द्वारा दिए जाने वाले प्रोत्साहनों में लगातार कमी समेत दूसरे मुद्दों को लेकर हाल ही में दिल्ली और कुछ दूसरे शहरों में हड़ताल की थी।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.