इन राज्यों में 24 जून से फिर हो सकती है भारी बारिश

मौसम विभाग की भविष्यवाणी के मुताबिक, इस मॉनसून मध्य भारत में सामान्य वर्षा होगी लेकिन दक्षिणी प्रायद्वीप के कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में बादल ज्यादा नहीं बरसेंगे। इन राज्यों में इस बार सामान्य से भी नीचे बारिश हो सकती है। उत्तर-पश्चिम भारत में भी इस बार कम बारिश के आसार दिखाई दे रहे हैं।

इन राज्यों में 24 जून से फिर हो सकती है भारी बारिश

नई दिल्ली। मौसम विभाग के नए मौसम अपडेट में कहा गया है कि 24 जून से फिर जोरदार बारिश हो सकती है। पिछले एक सप्ताह से मॉनसून कमजोर पड़ गया था, लेकिन 24 जून से फिर से भारी बारिश की संभावना बन रही है। जून के पहले छमाही के दौरान सक्रिय रहने के बाद दक्षिण-पश्चिम मानसून कमजोर हो गया था। मौसम विभाग का कहना है कि मॉनसून गतिविधियों में इसका कमजोर पड़ना एक सामान्य प्रक्रिया है।



नई प्रणाली से भारतीय मानसून के पूर्वानुमान में सुधार आएगा

बुधवार को मौसम विभाग की तरफ से जारी नए अपडेट में बताया गया कि मॉनसून भले ही पिछले एक हफ्ते से कमजोर रहा हो, लेकिन आने वाले दिनों में तेज बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून कमजोर क्रॉस भूमध्य रेखा प्रवाह, मैडडन जूलियन ऑसीलेशन , उत्तरी-पश्चिमी प्रशांत महासागर पर कम दबाव प्रणाली के विकास और बाकी कारणों के चलते पिछले सप्ताह आगे नहीं बढ़ सका। हालांकि मॉनसून में अगले सप्ताह से सुधार होने की संभावना है। ये सुधार अगले 2-3 दिनों के दौरान मैडडन जूलियन ऑसीलेशन के पश्चिम इक्वेटोरियल हिंद महासागर और आसपास के अरब सागर में सक्रिय संचलम की उम्मीद है। नतीजतन, असम के शेष हिस्सों, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में 23 से 25 जून के बीच दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने की संभावना है।

इस साल जमकर होगी बारिश, मौसम विभाग ने दी जानकारी






केरल में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून 29 मई को ही आ गया था और तभी से पश्चिमी और उत्तर-पूर्वी तटीय क्षेत्रों में जोरदार बारिश हो रही है। ओडिशा और पूर्वी भारत के बाकी हिस्सों में 23-24 जून को तेज बारिश की संभावना जताई जा रही है। वहीं आंध्र प्रदेश-तेलंगाना, कर्मनाटक और दक्षिणी प्रायद्वीप के बाकी हिस्सों में 26 जून से बारिश हो सकती है। मौसम विभाग की भविष्यवाणी के मुताबिक, इस मॉनसून मध्य भारत में सामान्य वर्षा होगी लेकिन दक्षिणी प्रायद्वीप के कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में बादल ज्यादा नहीं बरसेंगे। इन राज्यों में इस बार सामान्य से भी नीचे बारिश हो सकती है। उत्तर-पश्चिम भारत में भी इस बार कम बारिश के आसार दिखाई दे रहे हैं।

मानसून आख़िर क्या बला है, जिसका किसान और सरकार सब इंतज़ार करते हैं


मानसून के इंतजार में किसान

गर्मी से परेशान लोगों के साथ-साथ किसान भी मानसून के इंतजार में हैं। किसानों का कहना है कि धान की रोपाई का समय आ गया है अगर बारिश हो जाती है तो हमारे लिए काफी फायदेमंद होगा। बरेली के बल्लिया निवासी किसान हिमांशु (30वर्ष) का कहना है," इस समय धान की पौध पूरी तरह से तैयार हो गई है। रोपाई का इंतजार है। अगर दो-चार दिन में बारिश हो जाती है तो हम रोपाई शुरू कर देंगे।"

वहीं देवरिया के रामपुर कारखाना निवासी जितेंद्र तिवारी (45वर्ष) का कहना है," गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है। खेती के लिए बारिश की बहुत जरुरत है। बारिश होने से हमें रोपाई के लिए पानी की दिक्कत नहीं होगी। "

मानसून : ये हैं मौसम के पूर्वानुमान के देसी अलार्म, घटनाएं जो बताती हैं बारिश कैसी होगी ?

Share it
Top