'कम संसाधनों के उपयोग में उत्पादन बढ़ेगा तभी किसानों की आय दोगुनी होगी'

कम संसाधनों के उपयोग में उत्पादन बढ़ेगा तभी किसानों की आय दोगुनी होगी

नई दिल्ली (भाषा)। नीति आयोग के सदस्य रमेश चंद ने कहा है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कम संसाधनों का उपयोग करते हुए फसल उत्पादकता बढ़ाने की जरूरत है। वह 20 से 22 अगस्त को प्रगति मैदान में आयोजित कृषि इंडिया 2018/वेलनेस इंडिया 2018 एक्सपो में बोल रहे थे। एक्सपो का आयोजन एक्जीबिशन इंडिया ग्रुप और आईटीपीओ द्वारा किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-नाबार्ड का सर्वे, किसानों की आमदनी में हुई 37 फीसदी की बढ़ोतरी

एक बयान में चंद के हवाले से कहा गया, "अगर हम वर्ष 2022 तक कृषि आय दोगुना करना चाहते हैं, तो हमें कम संसाधन से अधिक उत्पादकता प्राप्त करने का लक्ष्य तय करना चाहिए।" उन्होंने यह भी बताया कि धान जैसे पानी की अधिक खपत करने वाली फसलों का नर्यिात देश या उसके किसानों के हित में नहीं है। चंद ने खाद्य तेलों की प्रति व्यक्ति खपत बढ़ने के बारे में भी बात की जिसके कारण खाना पकाने के तेलों का भारी मात्रा में आयात हुआ।

ये भी पढ़ें-किसानों की आय तय हो तभी होगा उनका भला

एक्सपो के उद्घाटन सत्र में, पर्यटन राज्य मंत्री के जे अल्फोन्स ने भारत को स्वास्थ्यवर्धक पौधों, जड़ी बूटी का देश बताया। उन्होंने कहा, "चिकित्सा ताकत (चिकित्सा दवाओं की पारंपरिक भारतीय प्रणाली) रसायनों पर निर्भर नहीं है, बल्कि यह पृथ्वी पर निर्भर करती है। जो उत्पाद हमें ठीक करते हैं वे वास्तव में आयुर्वेदिक होते हैं।" अल्फांस ने बाढ़ प्रभावित केरल के लोगों की मदद के लिए दान के लिए भी अपील की।


Share it
Top