किसानों के काम की खबर: बिना कृषि मेले में गए यहां मिलेगी पूरी जानकारी

किसानों के काम की खबर: बिना कृषि मेले में गए यहां मिलेगी पूरी जानकारीउन्नति किसान मेेले में किसानों की आय दोगुनी करने की तकनीक पर बोलेंगे मोदी

अगर आप किसान हैं और किसी कारण से भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, पूसा में कृषि उन्नति मेले में नहीं जा पाए हैं तो ये आपके काम की ख़बर है। देशभर के कृषि विज्ञान केन्द्रों व कृषि अनुसंधानों संस्थानों में टीवी के माध्यम से कृषि उन्नत मेला का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- पूसा में कृषि उन्नति मेला शुरू : जाने क्या है आपके लिए ख़ास

किसानों को आधुनिक खेती के साथ नई तकनीकियों की जानकारी देने के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान में तीन दिवसीय उन्नति कृषि मेले की लगाया गया है, तीन दिवसीय इस मेले का उद्देश्य किसानों को आधुनिक कृषि प्रौद्योगिकियों के प्रति जागरुक करना और आधुनिक खेती में किसानों की भागीदारी बढ़ाना है।

ये भी पढ़ें- किसानों की नाराजगी की कीमत कौन चुकाएगा ?

ये भी पढ़ें- आय दोगुनी करने की चाबी किसानों के पास ही है, इस विधि से खेती की तो बढ़ सकती है आय

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी साल 2022 तक देश की किसानों की आय दोगुनी करने को प्रयासरत हैं, इसी क्रम में मेले के दूसरे दिन प्रधानमंत्री लाखों किसानों, कृषि वैज्ञानिकों और अन्य संबंधित लोगों को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 17 मार्च को नई दिल्ली में भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, आईएआरआई पूसा परिसर में वार्षिक 'कृषि उन्नति मेला' को संबोधित करेंगे। वे किसानों को संबोधित करेंगे, जैविक कृषि पर पोर्टल की शुरूआत करेंगे और 25 कृषि विज्ञान केन्द्रों की आधारशिला भी रखेंगे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री “कृषि कर्मन” और “पंडित दीन दयाल उपाध्याय कृषि विज्ञान प्रोत्साहन” पुरस्कार भी प्रदान करेंगे।

इस मेले का थीम-2022 तक किसानों की आय दुगुना करना है। 'कृषि उन्नति मेला' का उद्देश्य किसानों के बीच कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में नवीनतम तकनीकी विकास के बारे में जागरूकता पैदा करना है। किसानों की आय दोगुनी करने पर थीम पवेलियन, सूक्ष्म सिंचाई पर लाइव प्रदर्शन, अपशिष्ट जल उपयोग, पशुपालन और मत्स्य पालन मेले के प्रमुख आकर्षणों में से हैं। मेले में बीज, उर्वरकों और कीटनाशकों पर भी पवेलियन स्थापित किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें- किसानों की आय दोगुनी करने की पहल, यूपी में खुलेंगे 20 नए कृषि विज्ञान केंद्र

भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान, कानपुर में भी किसान गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा, जिसमें उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री डॉ. सूर्य प्रताप शाही के साथ ही हज़ारों किसान भी भाग लेंगे। भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान के कृषि वैज्ञानिक डॉ. पुरुषोत्तम बताते हैं, "इस कार्यक्रम में एक हज़ार किसान आएंगे, जिन्हें प्रधानमंत्री मोदी के किसानों की आय दोगुनी करने के उद्बोधन को सीधा प्रसारण दिखाया जाएगा, इसके साथ ही हम वैज्ञानिक किसानों की समस्याओं का समाधान भी करेंगे।

कृषि मेले के पहले दिन रजिस्ट्रेशन कराते किसान

ये भी पढ़ें- सफलता की ओर करवट लेती किसान राजनीति

कृषि विज्ञान केन्द्र, सहारनपुर के फसल सुरक्षा वैज्ञानिक डॉ. आईके कुशवाहा कहते हैं, "सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों को ये निर्देश दिया गया है कि किसानों तक प्रधानमंत्री का संदेश पहुंचाए। इसके साथ ही प्रधानमंत्री अपनी स्पीच में जो बोलेंगे उसके बारे में भी हम किसानों को विस्तार से समझाएंगे, किसानों की आय कैसे दोगुनी हो इसके लिए नई तकनीकियों की जानकारी भी देंगे। खेती किसानी से जुड़ी समस्याओं का निदान कृषि वैज्ञानिकों और कृषि के अधिकारियों के द्वारा किया जाएगा।"

Share it
Top