LIVE : ICAI के कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी, अर्थव्यवस्था में सफाई अभियान चला रहा हूं

LIVE : ICAI के कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी, अर्थव्यवस्था में सफाई अभियान चला रहा हूंसभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री मोदी।

नई दिल्ली। देश में जीएसटी लागू होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार सभा को संबोधित करने जा रहे हैं। द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) के कार्यक्रम में पीएम मोदी और वित्तमंत्री की पाठशाला आयोजित की जा रही है, जहां पर भारी संख्या में लोग जुट गए हैं। पीएम मोदी कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं। वह जीएसटी के नफा-नुकसान गिनाने रहे हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने कार्यक्रम में पहुंचकर सीए के नए सिलेबस को लॉन्च किया। उन्होंने ICAI को स्थापना दिवस की बधाई दी, जिसके बाद लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए. इस पर पीएम मोदी ने लोगों का शुक्रिया अदा किया।

ये भी पढ़ें- मोहब्बत पर पड़ेगी जीएसटी की मार

पीएम मोदी ने कहा कि GST भारत के अर्थव्यवस्था में एक नई राह की शुरुआत है। चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को देश की संसद ने पवित्र अधिकार दिया है। जीएसटी आर्थिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। सीए अर्थजगत में बड़े स्तंभ है। अकाउंटेंट पर देश की आर्थिक जिम्मेदारी होती है। इस दौरान मोदी ने शास्त्रों के अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि चार्टर्ड अकाउंटेंड अर्थजगत के ऋषि-मुनि हैं, जो इस क्षेत्र में मार्ग दिखाते हैं. इस दौरान मोदी ने सीए से कहा कि मेरी और आपकी देशभक्ति में कोई अंतर नहीं है.

य़े भी पढ़ें- 12 वीं के छात्र का खुला ख़त , प्रधानमंत्री जी... हमारे गांव के लोगों को नहीं पता क्या है जीएसटी

इससे पहले वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कार्यक्रम को संबोधित किया और जीएसटी के फायदे बताए। जेटली ने कहा कि GST लागू होना देश के लिए ऐतिहासिक कदम है और हमें इसे लागू करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि भारत के बढ़ते बाजार और मजबूत अर्थव्यवस्था की वजह से आज पूरी दुनिया हमारी ओर देख रही है। जेटली की मानें तो विकसित होने के लिए मानसिकता बदलनी होगी और आधे-अधूरे रवैये के साथ देश को नहीं बदला जा सकता है।

ये भी पढ़ें- GST : बीएमडब्ल्यू से चलने वाले व्यक्ति और किसानों पर एक जैसा कर

वित्तमंत्री ने कहा कि दुनिया में आर्थिक मंदी के बावजूद भारत तेजी आर्थिक मोर्चे पर आगे बढ़ रहा है। जीएसटी से इंस्पेक्टर राज और भ्रष्टाचार खत्म होगा। अभी तक टैक्स चोरी के रास्ते ढूंढे जाते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। कुछ दिनों में उम्मीद करता हूं कि जम्मू एवं कश्मीर इसको लागू कर लेगा। कुछ लोग विरोध करेंगे, लेकिन विरोध के साथ भी लोकतंत्र चलता है। ऑनलाइन से नीलामी से भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी। हमने भ्रष्टाचार के लिए कोई गुंजाइश नहीं छोड़ी है। पहले राजनीति से भ्रष्टाचार खत्म करने की बात होती थी. टैक्सेशन प्रणाली को ऑनलाइन किया। इससे भ्रष्टाचार में लगाम लगी।

Share it
Top