आस्था के नाम पर हिेंसा करने का अधिकार किसी को भी नहीं: मोदी

आस्था के नाम पर हिेंसा करने का अधिकार किसी को भी नहीं: मोदीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली, (आईएएनएस)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि किसी को भी आस्था के नाम पर कानून एवं व्यवस्था हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। इसे हरियाणा में हुई हिंसा के संदर्भ में समझा जा रहा है। मोदी ने अपने मासिक रेडियो संबोधन 'मन की बात' में देश को संबोधित करते हुए कहा, "हिंसा की वजह से पूरा देश दुख में है।

यह भी पढ़ें- आज करेंगे मोदी ‘मन की बात’

मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि किसी को भी आस्था के नाम पर कानून एवं व्यवस्था को हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।" हालांकि, सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी ठहराए जाने के बाद भड़की हिंसा का कोई उल्लेख नहीं किया। मोदी ने कहा, "जहां से भी हिंसा की खबर आती है तो तनाव होना वाजिब है।" हरियाणा हिंसा में अब तक 36 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें- मन की बात में प्रधानमंत्री मोदी ने मुबारकपुर के लोगों को दी बधाई, गाँव कनेक्शन ने छापी थी ख़बर

किसी भी आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं

पीएम मोदी ने ये भी कहा कि मैंने 15 अगस्त के मौके पर लाल किले की प्राचीर से कहा था आस्था के नाम हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। फिर चाहे वो सांप्रदायिक आस्था हो, राजनीति विचारधाराओं के प्रति आस्था हो, व्यक्ति के प्रति आस्था हो या फिर किसी परंपरा के प्रति आस्था हो।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top