राजस्थान: किन्नर गंगा कुमारी बना कांस्टेबल, छह सप्ताह के अंदर मिलेगा नियुक्ति पत्र

राजस्थान: किन्नर गंगा कुमारी बना कांस्टेबल, छह सप्ताह के अंदर मिलेगा नियुक्ति पत्रकिन्नर गंगा कुमारी।

लखनऊ। प्रदेश के जालोर जिले की किन्नर गंगा कुमारी की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने राजस्थान पुलिस विभाग को उसे नियुक्ति देने का फैसला सुनाया। बता दें कि किसी किन्नर को सरकारी नौकरी दिए जाने का राजस्थान प्रदेश में यह पहला और देश में तीसरा मामला है। जस्टिस दिनेश मेहता की कोर्ट ने गंगा कुमारी की याचिका पर सुनवाई करते हुए छह सप्ताह में नियुक्ति पत्र देने को कहा है।

याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता रितुराज सिंह ने पैरवी करते हुए कहा कि गंगाकुमारी पुलिस कांस्टेबल के पद के पात्र होने के बावजूद जालौर पुलिस अधीक्षक द्वारा नियुक्ति नहीं दी गई थी। कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में चयनित किन्नर की नियुक्ति को लेकर पुलिस गृह विभाग के आला अधिकारी दुविधा में थे।पिछले तीन साल से गृह विभाग पुलिस के अधिकारी किन्नर की नियुक्ति को लेकर निर्णय नहीं कर पा रहे थे। लम्बे समय तक मामले की फाइल गृह विभाग में पड़ी हुई थी।

ये भी पढ़ें- कभी स्कूल तो कभी समाज ने बनाया मजाक, अब बनीं देश की पहली ट्रांसजेंडर जज

गौरतलब है कि 2013 में 12 हजार पदों के लिए पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा हुई थी। इसमें गंगा कुमारी का भी चयन हुआ। सभी अभ्यर्थियों का मेडिकल कराया गया तो गंगा के किन्नर होने की बात सामने आई। इस पर पुलिस अधिकारी नियुक्ति देने को लेकर असमंजस में पड़ गए।

ये भी पढ़ें- रेलवे ने ट्रांसजेंडर समुदाय को दी सौगात, अब रेलवे आरक्षण फॉर्म में होगा ‘टी’ अक्षर का विकल्प

गंगा देवी के किन्नर होने की पुष्टि होने के बाद पुलिस अधीक्षक ने पुलिस मुख्यालय में मामला भेजा। पुलिस मुख्यालय निर्णय नहीं कर पा रहा था। इस पर गंगा कुमारी कोर्ट में गई और सोमवार को न्यायालय ने उसके पक्ष में फैसला सुनाया।

खेती और रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाली मशीनों और जुगाड़ के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

Share it
Top