जेईई-मेन्स में शत प्रतिशत अंक लाने वाले कल्पित वीरवाल का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज 

जेईई-मेन्स में शत प्रतिशत अंक लाने वाले कल्पित वीरवाल का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज किया गया कल्पित वीरवाल का नाम।

नई दिल्ली (भाषा)। प्रतिष्ठित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मुख्य में अब तक पहली बार शत प्रतिशत प्राप्तांक हासिल करने वाले उदयपुर के कल्पित वीरवाल का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज किया गया है।

कल्पित ने इस साल जेईई-मेन्स में 360 में से 360 अंक हासिल किये थे और अब वह भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बंबई में कंप्यूटर विज्ञान की पढ़ाई कर रहे हैं। लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड के एक अधिकारी ने बताया कि उनकी उपलब्धि 2018 के संस्करण में 'शिक्षा उपलब्धि' श्रेणी में नजर आएगी।

ये भी पढ़ें : सर्वे : 45 % ग्रामीण महिलाएं बनना चाहती हैं टीचर तो 14 % डॉक्टर, लेकिन रास्ते में हैं ये मुश्किलें भी

कल्पित ने मुम्बई से फोन पर कहा, ''मुझे यह परीक्षा उत्तीर्ण हो जाने का पूरा यकीन था, लेकिन मुझे शत प्रतिशत अंक मिलने की आशा नहीं थी। इसी तरह, लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में स्थान पाना भी ऐसी चीज है, जिसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी।'' उनका गृहनगर उदयपुर कोटा से 300 किलोमीटर से अधिक दूर नहीं है जो मेडिकल और इंजीनियरिंग के अभ्यथर्यिों की तैयारी के लिए एक केंद्र है।

कल्पित का कहना है, ''मैं आईआईटी की तैयारी के लिए कोई रोजाना 15 घंटे नहीं पढ़ता था, मैं कोटा भी नहीं गया लेकिन निरंतर पढ़ाई से मुझे मदद मिली।'' उनके पिता पुष्पेंद्र वीरवाल उदयपुर में महाराणा भूपाल सरकारी अस्पताल में चिकित्साकर्मी हैं जबकि मां पुष्पा सरकारी स्कूल में शिक्षिका हैं। उनका बड़ा भाई जोधपुर के एम्स से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है।

ये भी पढ़ें : मच्छरों से महाभारत : डेंगू, मलेरिया और जेई फैलाने वाले मच्छरों के खिलाफ गांव कनेक्शन फाउंडेशन की मुहिम

Share it
Top